दैनिक भास्कर हिंदी: धोनी के बाद PM मोदी ने सुरेश रैना को लिखा पत्र, कहा-दुनिया आपके कवर ड्राइव और फील्डिंग की मुरीद

August 21st, 2020

हाईलाइट

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महेंद्र सिंह धोनी के बाद अब सुरेश रैना के लिए एक लेटर लिखा
  • रैना ने धोनी के साथ ही 15 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की थी

डिजिटल डेस्क। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महेंद्र सिंह धोनी के बाद अब टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज सुरेश रैना के लिए एक लेटर लिखा है। सुरेश रैना ने शुक्रवार को अपने ट्विटर अकाउंट पर PM मोदी द्वारा उनके लिए लिखे गए लेटर को शेयर किया है। रैना ने इसके लिए PM मोदी का शुक्रिया अदा भी किया है। सुरेश रैना ने महेंद्र सिंह धोनी के साथ ही 15 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की थी। मोदी ने लेटर में रैना के खेल की जमकर तारीफ की और उन्हें एक शानदार क्रिकेटर बताया है। मोदी ने रैना की फील्डिंग की भी खूब तारीफ की और कहा कि गेंद से भी रैना पर कप्तान का भरोसा कायम था।  

रैना ने ट्वीट कर लिखा- मेरे जैसे प्लेयर्स मैदान पर देश के लिए खून-पसीना बहाते हैं। जब उन्हें देश के लोगों और खासतौर पर प्रधानमंत्री से सराहना मिलती है, तो इससे बढ़कर कुछ नहीं हो सकता। मोदी जी आपके प्रेरक शब्दों और शुभमकानाओं के लिए शुक्रिया। मैं इसे तहेदिल से स्वीकार करता हूं। जय हिंद।'

 PM मोदी का रैना को लेटर -

  • मोदी ने रैना के लिए लेटर में लिखा, 15 अगस्त को आपने वो फैसला किया जो निश्चित तौर पर आपके जीवन का सबसे मुश्किल फैसला रहा होगा। मैं संन्यास शब्द का इस्तेमाल नहीं करना चाहता क्योंकि आप संन्यास लेने के लिए काफी युवा और ऊजार्वान थे। उन्होंने लिखा, क्रिकेट के मैदान पर एक बहुत यादगार सफर के बाद आप अपने जीवन की दूसरी पारी के लिए तैयारी कर रहे हो। रैना ने 13 साल में भारत के लिए 18 टेस्ट, 226 वनडे और 78 टी-20 मैच खेले हैं। प्राधनमंत्री ने लिखा, आपने क्रिकेट को जिया है। आपकी खेल में दिलचस्पी मुरादनगर की गलियों से जीवन के शुरुआती पलों में ही शुरू हो गई थी और फिर आपने लखनऊ के मैदान पर अपने पैर जमाए। वहां से आपका सफर बेहद शानदार रहा है, जिसमें सबसे अहम भारत का प्रतिनिधित्व करना शामिल है- उस देश का जिसे आप बहुत प्यार करते हैं।
  • मोदी ने अपने पत्र में लिखा, पीढ़ियां न सिर्फ आपको एक अच्छे बल्लेबाज के रूप में याद करेंगी बल्कि एक उपयोगी गेंदबाज के तौर पर भी आपकी भूमिका को भुलाया नहीं जा सकेगा। आप एक ऐसे गेंदबाज थे जिस पर कप्तान मुश्किल समय में भरोसा कर सकता था। आपकी फील्डिंग भी बेहतरीन थी। इस दौर के कुछ सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय कैचों में आपका नाम आता है। आपने अपनी फील्डिंग से जितने रन बचाए हैं उनका हिसाब करने में काफी दिन बीत जाएंगे। रैना भारत की पुरुष टी-20 की कप्तानी करने वाले सबसे युवा कप्तान थे। वह भारत की उस टीम का भी हिस्सा थे जिसने पहला अंतर्राष्ट्रीय टी-20 मैच खेला था।
  • मोदी ने लिखा, एक बल्लेबाज के तौर पर अपने तीनों प्रारूपों में अपनी अलग पहचान बनाई खासकर टी-20 क्रिकेट में। यह आसान प्रारूप नहीं है। आपकी फुर्ती और सतर्कता इस प्रारूप के लिए सम्पत्ति थी। रैना 2011 विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम का भी हिस्सा थे। उन्होंने पूरे विश्व कप में अपनी बल्लेबाजी से टीम में खासा योगदान दिया था। प्राधनमंत्री ने लिखा, भारत 2011 विश्व कप में आपके रोल को नहीं भूल सकता, खासकर बाद के मैचों में। मैंने आपको मोटेरा स्टेडियम में आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए क्वार्टरफाइनल मैच में देखा था। आपकी पारी ने टीम की जीत में अहम रोल निभाया था।उन्होंने कहा, मैं भरोसे के साथ कह सकता हूं कि प्रशंसक आपकी खूबसूरत कवर ड्राइव को मिस करेंगे, जिसको मैंने उस दिन अपनी आंखों से देखा था।
  • प्रधानमंत्री ने लिखा, खिलाड़ियों की प्रशंसा मैदान के अलावा मैदान के बाहर भी होती है। आपका जुझारूपन कई युवाओं को प्ररेणा देगा। अपने क्रिकेट करियर के दौरान, आपने चोट और अन्य चुनौतियों का सामना किया लेकिन हर बार चुनौतियों से पार पाई। उन्होंने आगे लिखा, सुरेश रैना हमेशा टीम भावना के साथ खेले। आपने निजी रिकॉर्ड के लिए नहीं बल्कि टीम और भारत के के लिए खेला। मैदान पर आपका जुझारूपन कमाल रहता था और हमने देखा भी कि विपक्षी टीम के विकेट पर आपका जश्न अलग ही होता था।
  • मोदी ने अपने पत्र के अंत में रैना के महिला सशक्तिकरण, स्वच्छ भारत अभियानों में किए गए समर्थन की भी तारीफ की। उन्होंने लिखा, समाज के प्रति आपकी चिंता और सहानुभूति कई मौकों पर देखी गई है। आपने महिला सशक्तिकरण और स्वच्छ भारत का समर्थन कर जरूरतमंदों की मदद की। उन्होंने लिखा, मैं इस बात से काफी खुश हूं कि आप भारत के सांस्कृतिक जड़ों से जुड़े हुए हैं। आने वाले दिनों में आप जो भी करेंगे उसमें आप आप उतने ही सफल होंगे जितने क्रिकेट में है, यह मुझे भरोसा है। उन्होंने लिखा, मुझे उम्मीद है कि आप इस समय का उपयोग प्रियंका, ग्रासिया और रियो के साथ अच्छा समय बिता कर करेंगे। मोदी ने अंत में लिखा, भारत को खेल में एक लीडर बनाने के लिए आप जो कर सकते थो वो करने के लिए शुक्रिया।