दैनिक भास्कर हिंदी: Sachin Interview: मास्टर ब्लास्टर का फैंस को मैसेज, बोले-जैसे आप चाहते थे मैं क्रीज में रहूं, वैसे ही मैं चाहता हूं सभी लोग कोरोना के बीच क्रीज में रहें

April 24th, 2020

हाईलाइट

  • भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व महान बल्लेबाज मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का आज 47वां जन्मदिन
  • जन्मदिन पर दिया फैंस को मैसेज बोले - जैसा वो चाहते थे कि मैं क्रीज में रहूं, वैसे ही मैं चाहता हूं कि वो क्रीज में रहें

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। क्रिकेट जगत के भगवान माने जाने वाले भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व महान बल्लेबाज मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का आज 47वां जन्मदिन है। हालांकि कोरोनावायरस महामारी के कारण सचिन ने इस बार अपना जन्मदिन नहीं मनाने का फैसला किया है। सचिन ने यह फैसला कोरोनावायरस के खिलाफ भारत की लड़ाई में अहम भूमिका निभा रहे पुलिस, डॉक्टर और कई वॉरियर्स के प्रति सम्मान के लिए किया है। सचिन का मानना है कि, यह जश्न मनाने का समय नहीं है। यह समय है कोरोनावायरस से लड़ाई लड़ने का और जरूरतमंद लोगों की मदद करने का।

जन्मदिन पर सचिन ने फैंस को दिया मैसेज
अपने 47वें जन्म दिवस की पूर्व संध्या पर सचिन ने आईएएनएस से बात करते हुए अपने प्रशंसकों को मौजूदा कठिन स्थिति को देखते हुए संदेश दिया कि, वह इस समय अपने परिवार के साथ कैसे समय बिता रहे हैं और सबसे अहम कि, वो IPL तथा इसी साल आस्ट्रेलिया में होने वाले ICC टी-20 वर्ल्ड कप को लेकर क्या सोचते हैं। सचिन चाहते हैं कि इस समय हर इंसान अपने घर में रहे और इस महामारी से लड़ने के लिए सरकार द्वारा दी गई गाइडलाइंस का पालन करे

जैसे मैं क्रीज में रहता था, वैसे मैं चाहता हूं सभी क्रीज में रहें
सचिन ने अपने प्रशंसकों को संदेश देते हुए कहा है, मेरे प्रशंसकों के लिए मेरा संदेश है कि, उन्होंने इतने सालों तक मुझे शुभकामनाएं दीं और मेरा उन्हें शुभकामनाएं देने का तरीका यह है कि, मैं उन्हें संदेश दूं कि आप घर में रहें और सुरक्षित रहें। मैं जब भी बल्लेबाजी करने उतरा तो वो चाहते थे कि, मैं रन बनाऊं और नाबाद रहूं। अब मैं चाहता हूं कि लोग सुरक्षित रहें, स्वस्थ रहें और बाहर नहीं जाएं। जैसा वो चाहते थे कि मैं क्रीज में रहूं, वैसे ही मैं चाहता हूं कि वो क्रीज में रहें।

जब तक मैं जिंदा हूं जरूरतमंदों की मदद करता रहूंगा
सचिन चुपचाप से वंचितों की मदद करते आए हैं। उन्होंने कहा, मैं जो करता हूं, उसके बारे में बात करना मुझे पसंद नहीं है। मैं अपना काम करना जारी रखूंगा। मेरे पहले के एंजेडा में भी रहा है कि, मैं कैसे वंचित लोगों की मदद कर सकता हूं। हमने कुछ चीजें तय की हैं और जो जारी रहेंगी। विचार सिर्फ जरूरतमंदों की मदद करना है। यह सिर्फ इस समय कोरोनावायरस के समय की बात नहीं है। हम इसे तब तक करना चाहते हैं जब तक मैं जिंदा हूं।

IPL और टी-20 वर्ल्ड कप पर क्या बोले सचिन?
कोरोनावायरस के कारण IPL का 13वां सीजन अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है। साथ ही इसी साल अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप पर भी काले बादल मंडरा रहे हैं। इसे लेकर कई लोगों ने अपना सुझाव रखा है। सुनील गावस्कर ने तो यह सुझाव दिया है कि, भारत को इस साल टी-20 वर्ल्ड कप की मेजबानी करनी चाहिए और 2021 में जो टी-20 वर्ल्ड कप भारत में होना है, उसकी मेजबानी ऑस्ट्रेलिया करे। सचिन ने कहा कि, उनके लिए जरूरी है कि क्रिकेट जीते।

सचिन ने कहा, मुझे नहीं पता कि कितने दिन बचे हैं और यह कब होना है। जब तक क्रिकेट है, मैं खुश हूं। मुझे भरोसा है कि, ICC इस पर ध्यान देगी और BCCI तथा आस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड भी ध्यान देंगे और देखेंगे कि आगे जाने का क्या रास्ता है और फिर विश्व क्रिकेट को लेकर, भारतीय क्रिकेट तथा आस्ट्रेलियाई क्रिकेट को लेकर फैसला लेंगे। मुझे लगता है कि उन्हें कैलेंडर में सिर्फ सही समय को पहचानने की जरूरत है और अगर यह उस समय सीमा में फिट बैठते हैं, तो क्यों नहीं।

घर पर मैं बच्चों अपनी पत्नी और मां के साथ समय बिता रहा हूं
सचिन ने अपनी अभी तक की आधी से ज्यादा जिंदगी मैदान पर बिताई है और अब वह इस समय घर में कैद हैं। सचिन ने कहा कि, वह घर में रहकर परेशान नहीं हैं बल्कि इस समय का भरपूर उपयोग कर रहे हैं। उन्होंने कहा, परेशान नहीं हूं। मैं घर में हर किसी के साथ का लुत्फ उठा रहा हूं। हम दोस्त एक दूसरे के संपर्क में हैं, बस हम मिल नहीं सकते और साथ बैठकर बात नहीं कर सकते। हम फोन पर बात करते हैं। घर पर मैं बच्चों अपनी पत्नी और मां के साथ समय बिता रहा हूं। उन्होंने कहा, अर्जुन और सारा 20 तथा 22 साल के हैं और उनकी अपनी जिंदगी है। मैं सफर करता हूं तो मां से मिलना मुश्किल होता है तो उनके लिए भी अच्छा है।

खबरें और भी हैं...