comScore

क्रिकेट: सुरेश रैना ने रोहित से कहा, मुझमें और धोनी में अब भी काफी क्रिकेट बाकी

क्रिकेट: सुरेश रैना ने रोहित से कहा, मुझमें और धोनी में अब भी काफी क्रिकेट बाकी

हाईलाइट

  • सुरेश रैना ने कहा, टीम इंडिया में वापसी के लिए मैं काफी मेहनत कर रहा हूं
  • रैना ने भारतीय टीम के लिए अब तक 18 टेस्ट और 226 वनडे मैच खेल हैं

डिजिटल डेस्क। दो साल से भारतीय क्रिकेट टीम से बाहर चल रहे ऑलराउंडर सुरेश रैना ने एक बार फिर टीम की जर्सी पहनने की इच्छा जाहिर की है। रैना का मानना है कि, अभी भी उनमें और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी में काफी क्रिकेट बाकी है। रैना ने भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा से बुधवार को इंस्टाग्राम लाइव चैट के दौरान यह बाते कही हैं। रैना ने कहा, मैं खुद में सुधार कर रहा हूं। घुटने में चोट के बाद मैं फिटनेस हासिल करने में जुटा था और इस प्रक्रिया में मैंने 'यो-यो' टेस्ट भी पास किया। टीम इंडिया में वापसी के लिए मैं काफी मेहनत कर रहा हूं। मेरे मुश्किल वक्त मे बड़े खिलाड़ियों ने हमेशा सपॉर्ट किया है। मुझे लगता है कि अभी मुझमें क्रिकेट बाकी है।

इस पर रोहित ने कहा कि रैना को भारतीय टीम में होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम हमेशा आपको टीम में वापस लाने के बारे में बात करते हैं, लेकिन टीम का चयन हमारे हाथ में नहीं है। हमें हमेशा कड़ी मेहनत करते रहना चाहिए। इस बातचीत के दौरान रैना और रोहित ने IPL फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के साथ अपने अनुभवों के बारे में भी बात की।

रैना ने IPL में CSK की सफलता के मंत्र के बारे में बताया
रैना ने इंडियन प्रीमियर लीग में CSK की सफलता के मंत्र पर कहा कि, CSK का खिलाड़ियो पर विश्वास उसकी सफलता में बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और कोचिंग स्टाफ, जो लंबे समय से अपने खिलाड़ियों पर भरोसा करते आ रहे हैं। वहीं रोहित ने CSK की तारिफ करते हुए कहा कि, चेन्नई सुपर किंग्स जैसी प्रतिस्पर्धी टीम में खेलने के लिए प्रतिस्पर्धी होने की जरूरत है। रैना ने रोहित को यह भी याद दिलाया कि, किस तरह धोनी ने उन्हें मिडिल ऑर्डर से ओपनिंग स्लॉट में ले जाकर विश्वास दिखाया, जिसके परिणामस्वरूप उन्होंने वनडे मैचों में तीन दोहरे शतक लगाए।

रोहित और रैना ने अपने करियर के शुरुआती दिनों को किया याद
रोहित और रैना इस बातचीत के दौरान इंटरनेशनल क्रिकेट के अपने शुरुआती दिनों को भी याद किया। रोहित ने कहा, जब मैंने 2007 में अपने करियर की शुरुआत की थी तब टीम का माहौल स्कूल के जैसा था, क्योंकि हमारे पास बहुत सारे सीनियर्स थे और मैं हमेशा युवी पा (युवराज सिंह) से डरता था। लेकिन वह बहुत सहायक रहे हैं, शुरू में मैं उनके करीब नहीं था। लेकिन बाद में मुझे उनका साथ मिला और उन्होंने मुझे कई मौकों पर सहज महसूस कराया।

भारत के लिए अब तक 18 टेस्ट और 226 वनडे मैच खेल चुके रैना ने भी 2011 विश्व कप के दिनों को याद किया। रैना ने कहा, जब युवराज दर्द से जूझ रहे थे और फिर भी उन्होंने भारत को खिताब जीतने में मदद की थी। वेस्टइंडीज के खिलाफ मैं उनके साथ बल्लेबाजी कर रहा था। अपनी पारी के दौरान उन्हें उल्टियां हुई थी। इसके बाद भी उन्होंने बल्लेबाजी जारी रखी थी और टीम के लिए अहम योगदान दिया था। 

यह खबर भी पढ़ें - युवराज ने टीम इंडिया के बल्लेबाजी कोच पर उठाए सवाल, बोले- जिसने खुद टी-20 फॉर्मेट में नहीं खेला, वो कैसे क्रिकेटरों की मदद करेंगे

लाइव चैट के दौरान रोहित और रैना ने धोनी के बारे में भी बात की
लाइव चैट के दौरान रोहित और रैना ने टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के बारे में भी बात की। धोनी ने भारत के लिए न्यूजीलैंड के खिलाफ 2019 विश्व कप सेमीफाइनल से बाहर होने के बाद से प्रतिस्पर्धी क्रिकेट मैच नहीं खेला है। वह इंडियन प्रीमियर लीग 13वें सीज़न में क्रिकेट के मैदान पर वापसी करने के लिए तैयार थे। लेकिन कोरोनावायरस महामारी के कारण टूर्नामेंट को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित दिया गया है। इसके साथ ही धोनी के टी 20 विश्व कप 2020 के लिए भारतीय टीम में वापसी और इंटरनेशनल क्रिकेट में उनका भविष्य संदेह के घेरे में आ गया है।

यह खबर भी पढ़ें - डेविड वॉर्नर ने कहा, पिछले 3 साल में 2 साल तो छुट्टी पर ही रहा हूं

धोनी पूरी तरह से फिट हैं, उनमें अब भी काफी क्रिकेट बाकी है
रैना ने कहा कि, टूर्नामेंट स्थगित होने से पहले चेन्नई सुपर किंग्स के प्रैक्टिस सेशन के दौरान मैंने धोनी को देखा, वे बल्लेबाजी में और विकेट के पीछे अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे। वे पूरी तरह से फिट हैं। हालांकि सिर्फ वही जानते हैं कि उनकी क्या योजना है। उनके अंदर काफी क्रिकेट बची हुई है। वहीं, रोहित ने कहा कि, यदि धोनी खेलते हैं, तो वे दोबारा टीम में आ सकते हैं। बता दें कि, रैना ने टीम इंडिया के लिए आखिरी बार कोई मैच जुलाई 2018 में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था। वहीं धोनी ने टीम के लिए अब तक 90 टेस्ट, 350 वनडे और 98 टी-20 खेले हैं।

कमेंट करें
PR1vg