comScore

डे-नाइट टेस्ट के लिए इंदौर में भी पिंक बॉल के साथ ट्रेनिंग करेगी टीम इंडिया

डे-नाइट टेस्ट के लिए इंदौर में भी पिंक बॉल के साथ ट्रेनिंग करेगी टीम इंडिया

हाईलाइट

  • भारतीय क्रिकेट टीम को बंग्लादेश के खिलाफ 22 से 26 नवंबर तक ईडन गार्डन्स में अपना पहला डे-नाइट टेस्ट मैच खेलना है
  • टीम प्रबंधन ने डे-नाइट टेस्ट से पहले एमपीसीए से पिंक बॉल के साथ रात में ट्रेनिंग कराने का इंतजाम करने की मांग की है

डिजिटल डेस्क। भारतीय क्रिकेट टीम के प्रबंधन ने बंग्लादेश के खिलाफ 22 से 26 नवंबर के बीच ईडन गार्डन्स में होने वाले ऐतिहासिक दिन-रात के टेस्ट मैच से पहले मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) से विराट कोहली और उनकी टीम के लिए पिंक बॉल के साथ रात में ट्रेनिंग कराने का इंतजाम करने की मांग की है। एमपीसीए के सचिव मिलिंद कानमाडिकर ने इसकी पुष्टि की और बताया कि संघ खिलाड़ियों की मदद करने के लिए पूरी तरह से तैयार है ताकि वह पिंक बॉल से खेलने के लिए अभ्यस्त हो जाए।

मिलिंद ने कहा, हमसे भारतीय टीम ने अनुरोध कि वह रात में पिंक बॉल के साथ ट्रेनिंग करना चाहते हैं, ताकि बांग्लादेश के खिलाफ होने वाले पहले डे-नाइट के मैच के लिए पूरी तरह से तैयार हो सकें। हम इसका पूरा इंतजाम करेंगे। टीम के उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे ने भी माना कि पिंक बॉल के साथ खेलने से पहले ट्रेनिंग बहुत अहम है।

बीसीसीआई डॉट टीवी ने रहाणे के हवाले से बताया, मैं व्यक्तिगत रूप से बहुत उत्साहित हूं। यह एक नई चुनौती है। मुझे नहीं पता कि मैच कैसा होगा, लेकिन हमें ट्रेनिंग सेशन के जरिए इसका आइडिया मिलेगा। ट्रेनिंग के बाद ही हमें अंदाजा होगा कि पिंक बॉल कितनी स्विंग करती है और हर सत्र में गेंद कैसे काम करती है।

फैन्स के नजरिए से भी यह दिलचस्प होगा। उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि बल्लेबाज के रूप में गेंद लेट स्विंग होगी और एक बल्लेबाज के रूप यह अच्छा होगा कि आप लेट खेलें। यह मेरा व्यक्तिगत विचार है। इसके अभ्यस्त होने में ज्यादा तकलीफ नहीं होनी चाहिए।

फैन्स के नजरिए से भी यह दिलचस्प होगा। उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि बल्लेबाज के रूप में गेंद लेट स्विंग होगी और एक बल्लेबाज के रूप यह अच्छा होगा कि आप लेट खेलें। यह मेरा व्यक्तिगत विचार है। इसके अभ्यस्त होने में ज्यादा तकलीफ नहीं होनी चाहिए।

कमेंट करें
wDUgP