comScore

बयान: कोहली के बचपन के कोच ने कहा, वह किसी के साथ दुर्व्यवहार नहीं करते

बयान: कोहली के बचपन के कोच ने कहा, वह किसी के साथ दुर्व्यवहार नहीं करते

हाईलाइट

  • कोच राजकुमार शर्मा ने कहा, विराट कभी किसी के साथ दुर्व्यवहार नहीं करते
  • कोच ने कहा, मैंने हमेशा माना है कि आक्रामकता उनकी ताकत है

डिजिटल डेस्क। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली एक बार फिर अपने एग्रेसिव नेचर के कारण आलोचनाओं का शिकार हो रहे हैं। इस पर विराट कोहली के बचपन के कोच राजकुमार शर्मा ने उनका बचाव करते हुए कहा कि, विराट कभी किसी के साथ दुर्व्यवहार नहीं करते। दरअसल टेस्ट सीरीज के दूसरे और आखिरी मैच के दौरान कोहली न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों के आउट होने पर आक्रामकता के साथ इसका जश्न मना रहे थे। वहीं दर्शकों की ओर इशारा कर अभद्र भाषा का इस्तेमाल भी कर रहे थे। इसके बाद से उनके इस व्यवहार पर कई सवाल भी उठाए गए और उनकी आलोचना भी की जा रही है।

आक्रामकता और दुर्व्यवहार के बीच एक पतली रेखा
इस पर विराट के बचपन के कोच राजकुमार शर्मा ने कहा, जब वह देश के लिए इसी आक्रामकता के साथ अच्छा प्रदर्शन कर रहे होते हैं, तो हर कोई उनकी सराहना करता है। उस समय, हर कोई कहता है कि आक्रामकता विराट की ताकत है। 54 साल के शर्मा ने कहा, मैंने हमेशा माना है कि आक्रामकता उनकी ताकत है, लेकिन आक्रामकता और दुर्व्यवहार के बीच एक पतली रेखा है। विराट कभी भी उस रेखा को पार नहीं करते हैं और ऐसा करना भी नहीं चाहिए। आक्रामकता विराट को अच्छा करने के लिए पंप करती है।

यह खबर भी पढ़ें - NZ VS IND: प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकार पर भड़के कोहली, कहा- आधी जानकारी के साथ न आएं

विराट का प्रदर्शन न्यूजीलैंड दौरे पर बेहद खराब रहा। वह दो टेस्ट मैचों की 4 पारियों में केवल 38 रन बना सके। इस दौरान उनका ऐवरेज 9.50 का रहा। इस पर उनके कोच शर्मा ने कहा, क्रिकेट में हर खिलाड़ी ऐसे दौर से गुजरता है, न्यूजीलैंड दौरा भी विराट के लिए ऐसा ही रहा है। इसमें चिंता की कोई बात नहीं है। विराट बहुत अच्छे खिलाड़ी हैं और वह जानते हैं कि कहां गलत हो रहा है। हम पहले ही उस पर चर्चा कर चुके हैं। वह जल्द ही दमदार वापसी करेंगे। साउथ अफ्रीका के खिलाफ होने वाली वनडे सीरीज में विराट दिखा देंगे कि वह क्या करने में सक्षम हैं।

कमेंट करें
O0iEk