मोंटी पनेसर साक्षात्कार: विराट भले ही एक बड़ा ब्रांड हो, लेकिन अब वह पहले जैसा क्रिकेटर नहीं रहे

July 16th, 2022

हाईलाइट

  • विराट भले ही एक बड़ा ब्रांड हो, लेकिन अब वह पहले जैसा क्रिकेटर नहीं रहे: मोंटी पनेसर (शुक्रवार साक्षात्कार)

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वल्र्ड कप के लिए विराट कोहली को प्लेइंग इलेवन में जगह देने को लेकर बहस तेज हो गई है, क्योंकि बल्लेबाज लगातार बड़ी पारियां खेलने में विफल हो रहे हैं। भारत के पूर्व कप्तान कपिल देव सहित कई पूर्व दिग्गजों को लगता है कि विराट का समय खत्म हो चुका है, जबकि कई लोगों का मानना है कि अंतिम निर्णय लेने से पहले क्रिकेटर को कुछ और मौके मिलने चाहिए।

विराट की फॉर्म को लेकर चल रही बहस के बीच इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर मोंटी पनेसर ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा कि यह समय कप्तान रोहित शर्मा और मुख्य कोच राहुल द्रविड़ को पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की तरह स्टार बल्लेबाज पर साहसिक निर्णय लेने का है।

पनेसर ने विश्व कप विजेता कप्तान इयोन मोर्गन पर भी अपने विचार साझा किए, जिन्होंने हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट और भारत और इंग्लैंड के बीच चल रही तीन मैचों की श्रृंखला से पहले संन्यास ले लिया था। इंग्लैंड ने गुरुवार को लॉर्डस में भारत के खिलाफ 100 रनों की बड़ी जीत के साथ वनडे सीरीज 1-1 से बराबर कर ली है। अब रविवार को दोनों टीमें तीसरे वनडे में आमने-सामने होंगी।

साक्षात्कार अंश:

प्रश्न: चूंकि भारत-इंग्लैंड वनडे सीरीज 1-1 के बराबर पर है, आप तीसरे और अंतिम मैच में किसका समर्थन कर रहे हैं?

उत्तर: यहां की परिस्थितियां एक बड़ी भूमिका निभाती हैं। पहले वनडे मैच में स्पष्ट रूप से बादल छाए हुए थे, जिससे गेंद को थोड़ा और स्विंग कराने में मदद मिली और लॉर्डस में दूसरे मैच को देखना वास्तव में दिलचस्प था, क्योंकि नई गेंद ज्यादा हलचल कर रही थी। मुझे लगता है कि नई गेंद जब हलचल करती है तो आप जानते हैं कि विकेट मिलेंगे। तो, यह बहुत कुछ इस बात पर निर्भर करता है कि उस दिन में परिस्थितियां कैसी होंगी।

प्रश्न: इंग्लैंड की मौजूदा वनडे और टी20 फॉर्म पर आपके क्या विचार हैं?

उत्तर: हां, वे वास्तव में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने स्पष्ट रूप से इस समय एक तरह से बेहतर खेलने में मुश्किल हालातों का सामना किया, लेकिन दूसरे वनडे मैच में यह वास्तव में अच्छा था। वे भारत पर दबाव बनाने में सक्षम थे, इसलिए यह देखना अच्छा था।

प्रश्न: क्या अगले साल 50 ओवर के विश्व कप को देखते हुए इयोन मोर्गन ने जल्दी संन्यास लेने का फैसला किया है?

उत्तर: मुझे लगता है कि मोर्गन को लगा कि उन्होंने सही काम किया है। क्योंकि वह शानदार फॉर्म में नहीं थे और जब भी आपको लगता है कि आप टीम के लिए कुछ नहीं कर पा रहे हैं, तो आप इस बारे में खुद सोचते हैं कि क्या करना है। मुझे नहीं लगता कि विराट कोहली जैसे कोई खिलाड़ी ऐसा करेंगे क्योंकि मुझे लगता है कि वह टी20 (विश्व कप) खेलना चाहेंगे और भारत में (50 ओवर) विश्व कप भी उनके लिए महत्वपूर्ण होगा। लेकिन, हो सकता है, उसके बाद वह संन्यास ले ले। वह स्पष्ट रूप से एक महान क्रिकेटर है और निर्णय उनके हाथों में है।

प्रश्न: कई क्रिकेटर खराब दौर से गुजरते हैं, क्या विराट कोहली भी इसी दौर से गुजर रहे हैं? क्या उन्हें छोड़ना भारतीय टीम प्रबंधन के लिए समाधान है?

उत्तर: ठीक है, मुझे लगता है कि विराट अपने समय में इतने बड़े खिलाड़ी, अविश्वसनीय कप्तान, शीर्ष बल्लेबाज रहे हैं। भारत को सोचना और तय करना पड़ सकता है कि वे अब विराट का सबसे अच्छा उपयोग कैसे कर सकते हैं। अपने समय में एमएस धोनी ने भी कुछ बड़े खिलाड़ियों को आराम दिया था।

रोहित और राहुल द्रविड़, क्या उनमें वास्तव में यह कहने का साहस है कि अब आगे बढ़ने का समय आ गया है। उन्हें सोचना होगा कि वह अब वही क्रिकेटर नहीं है। हमने उन्हें कई मौके दिए हैं, लेकिन वह वैसा नहीं है, जैसा हम उनसे उम्मीद करते हैं।

वह एक बड़ा ब्रांड हो सकते हैं, लेकिन आप जानते हैं, जैसे फुटबॉल में मैनचेस्टर यूनाइटेड के क्रिश्चियन रोनाल्डो एक बेहतर खिलाड़ी हैं, लेकिन उन्होंने वास्तव में टीम की मदद नहीं की। फिलहाल क्या विराट कोहली भारत की मदद कर रहे हैं? यही सबसे बड़ा सवाल है, जिसका जवाब रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ को देना है।

सोर्स: आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.