comScore

बिहार : बाढ़ संभावित इलाकों में बुजुर्गो, बच्चों का स्वास्थ्य सर्वेक्षण

June 20th, 2020 16:31 IST
 बिहार : बाढ़ संभावित इलाकों में बुजुर्गो, बच्चों का स्वास्थ्य सर्वेक्षण

हाईलाइट

  • बिहार : बाढ़ संभावित इलाकों में बुजुर्गो, बच्चों का स्वास्थ्य सर्वेक्षण

पटना, 20 जून (आईएएनएस)। बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या तो लगातार बढ़ ही रही है, इस बीच मानसूनी बारिश के कारण बाढ़ की आशंका को लेकर भी स्वास्थ्य विभाग चिंतित है। सरकार ने बाढ़ आने से पूर्व ही वैसे संभावित इलाकों में स्वास्थ्य सर्वेक्षण कराने की योजना बनाई है, जिससे बाढ़ के वक्त आने वाली परेशानियों को कम किया जा सके।

स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग ने सभी प्राथमिक चिकित्सा केंद्रों के प्रभारी चिकित्सकों को बुजुर्ग, बच्चों, गर्भवती महिलाओं व दिव्यांगजनों का कोरोना जांच के लिए सैम्पल एकत्र करवाने के निर्देश दिए हैं।

निर्देश में स्वास्थ्यकर्मियों को इनका ब्योरा एकत्र करने को कहा गया है। बाढ़ से प्रभावित होने वाले इलाकों के घरों के अलावा उनके संपर्क में आने वाले अन्य घरों में भी बच्चों, बुजुर्गो, गर्भवती महिलाओं व दिव्यांगजनों का हेल्थ सर्वेक्षण किया जाए। इस दौरान स्वास्थ्यकर्मी लोगों के बुखार, सर्दी, खांसी व सांस लेने में परेशानी महसूस कर रहे लोगों की स्क्रीनिंग करेगी और इसकी सूचना अस्पताल के प्रभारी को प्रतिदिन देगी।

डॉक्टरों व लैब टेक्नीशियनों की टीम चिन्हित किए गए बुजुर्ग, बच्चों, गर्भवती महिलाओं व दिव्यांगजनों का कोरोना जांच के लिए सैम्पल एकत्र करेगी और उसे जांच केंद्रों पर भेजेगी। ये सभी काम बाढ़ आने के पूर्व कर लिया जाएगा, जिससे बाढ़ के दौरान मरीजों को झेलनी नहीं पड़े।

बिहार के स्वास्थ्य सचिव लोकेश कुमार सिंह ने बताया कि विभाग के द्वारा विशेष रणनीति के तहत कारोना की जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि स्तर पर अधिक से अधिक नमूना संग्रह करने को कहा गया है, जिससे संक्रमण की पहचान की जा सके। उन्होंने बताया कि ज्यादा से ज्यादा कांटैक्ट ट्रेसिंग कर संक्रमण की पहचान की जा रही है। कोरोना संक्रमण के लक्षण वाले व्यक्तियों का उचित इलाज सुनिश्चित कराने की दिशा में सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग ने राज्य के सभी जिलों के सिविल सर्जनों को बाढ़ से प्रभावित होने वाले इलाकों में कोरोना जांच को लेकर विशेष सर्वेक्षण का निर्देश दिया है। कहा गया है कि बाढ़ संभावित इलाकों में दूसरे प्रदेशों से आने वाले प्रवासियों के घरों में बच्चों, बुजुर्गो, गर्भवती महिलाएं और दिव्यांगों के सस्थ्य की जांच की जाएगी। इसके लिए पहले सूची बनाई जाएगी। उसके बाद चिह्न्ति व्यक्तियों की कोरोना जांच की जाएगी।

कमेंट करें
khqJf