comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Gangrape: हाथरस में पीड़िता की चिता ठंडी भी नहीं हुई और यूपी में फिर दलित युवती हैवानियत की शिकार, आरोपियों ने उसकी कमर और दोनों पैर तोड़े  

Gangrape: हाथरस में पीड़िता की चिता ठंडी भी नहीं हुई और यूपी में फिर दलित युवती हैवानियत की शिकार, आरोपियों ने उसकी कमर और दोनों पैर तोड़े  

डिजिटल डेस्क, बलरामपुर। उत्तरप्रदेश के हाथरस में गैंगरेप पीड़िता की चिता की आग ठंडी भी नहीं हुई थी कि राज्य में एक ओर गैंगरेप की घटना सामने आई है। इस बार मामला यूपी के बलरामपुर का है। यहां 22 साल की दलित छात्रा के साथ गैंगरेप किया गया। यहीं नहीं आरोपियों ने पीड़िता के साथ बुरी तरह मारपीट की और उसकी कमर और दोनों पैर तोड़ दिए। इसके बाद दबंग आरोपियों ने छात्रा को रिक्शे में बिठाकर घर ​भेज दिया, जहां उसकी कुछ देर बाद मौत हो गई। घटना के बाद इलाके में तनाव का माहौल है और पूरा इलाका छावनी में तब्दील कर दिया गया है। वहीं पुलिस ने मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

मां से कहा- बहुत दर्द है अब मैं बचूंगी नहीं
मृतक युवती की मां का आरोप है कि उसकी बेटी को इंजेक्शन लगाकर हैवानियत की वारदात को अंजाम देने के बाद कमर और दोनों टांगों को तोड़कर रिक्शे पर बैठाकर घर भेज दिया गया जिसके बाद वो कुछ भी बोल नहीं पा रही थी। वह सिर्फ इतना कह पाई, 'बहुत दर्द है अब मैं बचूंगी नहीं।' हालांकि बलरामपुर एसपी देव रंजन वर्मा ने कहा है कि हाथ पैर और कमर तोड़ने वाली बात सही नहीं है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसकी पुष्टि नहीं हुई है। सूत्रों की मानें तो गैगरेप के बाद युवती के आंतरिक और बाहरी अंगों में काफी चोटें आई हैं जिसके कारण उसकी मौत हो गई। 

बीकाॅम में एडमिशन कराने घर से निकली थी युवती
युवती के परिजनों का आरोप है कि 22 साल की दलित छात्रा 29 सितंबर की सुबह करीब 10 बजे पचपेड़वा के विमला विक्रम महाविद्यालय में बीकाॅम में एडमिशन कराने घर से निकली थी, लेकिन घर नहीं लौटी। शाम को करीब 5 बजे उसकी खोजबीन शुरू की, लेकिन नहीं मिली। शाम करीब 7 बजे पीड़ित युवती बुरी तरह घायल अवस्था में एक रिक्शे से घर पहुंची। उसकी ये हालत देख घर वालों ने पूछताछ करने की कोशिश की तो वह दर्द से कराहने लगी। बताया जा रहा है कि आरोपियों ने दोस्ती के बहाने दलित युवती को बुलाया और उससे रेप किया।

आरोपियों ने इलाज के लिए डॉक्टर को बुलाया
बताया जा रहा है कि जब छात्रा घर पहुंची तो कीचड़ से लथपथ थी और उसके हाथ में ग्लूकोज चढ़ाने वाला वीगो लगा था। परिजनों ने जब गांव में पता करने की कोशिश की तो पता चला की गांव के ही एक डॉक्टर को गांव के ही एक लड़के ने एक घर में युवती की इलाज के लिए बुलाया था। जिस कमरे में छात्रा के साथ गैंगरेप की घटना होने की बात कही जा रही है वह एक किराना स्टोर के पीछे का कमरा है। किराना स्टोर चलाने वाला युवक ही इस घटना का मास्टरमाइंड है। गैंगरेप के बाद जब लडकी की हालत बिगडने लगी तभी पडोस के युवकों ने एक निजी चिकित्सक को इलाज के लिए बुलाया, लेकिन निजी चिकित्सक कमरे में अकेली लड़की देख इलाज करने से मना कर दिया और युवकों से उसके घरवालों को सूचना देने को कहा। 

रिक्शे में थे खून के धब्बे
परिजनों ने आरोप लगाया कि जब युवती पचपेड़वा के विमला विक्रम महाविद्यालय में एडमिशन कराकर लौट रही थी तो गांव के ही 5 से 6 लड़कों ने उनका अपहरण कर लिया और गांव के ही एक घर में ले जाकर गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। जिस रिक्शे पर युवती को घर पहुंचाया गया उसपर खून के धब्बे और रास्ते में उसकी जूती भी पाई गई है।

दोनों आरोपी गिरफ्तार
छात्रा के भाई की तहरीर पर पुलिस ने दो नामजद लोगों पर रेप और हत्या का केस दर्ज कर लिया है। पुलिस के मुताबिक एक आरोपी का नाम शाहिद है इसके पिता का नाम हबीबुल्ला है और ये गैंसड़ी का रहने वाला है। वहीं दूसरे आरोपी का नाम साहिल है। इसके पिता का नाम हमीदुल्ला है, ये शख्स भी गैंसड़ी का रहने वाला है। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

6 घंटे तक चला पोस्टमॉर्टम
मामले की गंभीरता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि संयुक्त जिला चिकित्सालय स्थित पोस्टमॉर्टम हाउस में करीब 6 घंटे तक युवती का पोस्टमार्टम 4 डाक्टरों के पैनल ने किया। बलरामपुर के सीएमओ को भी पोस्टमार्टम हाउस तक आना पड़ा। देर शाम युवती का शव परिजनों को सौंपा गया। 

मेधावी छात्रा थी, किसानों को करती थी जागरूक
जघन्य गैंगरेप की शिकार पीड़ित दलित छात्रा मेधावी थी। करीब दो साल वह एक संस्था के जरिए किसानों को आधुनिक खेती करने के लिए जागरूक करने का काम भी करती थी।
 

कमेंट करें
ifeB0
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।