comScore

CRIME: लखनऊ में रेलवे प्रवक्ता की पत्नी और बेटे की हत्या की गुत्थी सुलझी, बेटी ने ही मारी थी दोनों को गोली

CRIME: लखनऊ में रेलवे प्रवक्ता की पत्नी और बेटे की हत्या की गुत्थी सुलझी, बेटी ने ही मारी थी दोनों को गोली

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में सीएम आवास के पास हुए डबल मर्डर के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। गौतम पल्ली थाना क्षेत्र में रेलवे में सीनियर अधिकारी राकेश दत्त बाजपेई की पत्नी मालिनी और 20 वर्षीय बेटे सर्वदत्त के शव बरामद हुए थे। मगर इससे भी ज्यादा चौंकाने वाली बात यह है कि इस वारदात को अफसर की बेटी ने ही अंजाम दिया है। पुलिस पूछताछ में बेटी ने अपना जुर्म कबूल भी कर लिया है।

मौके पर मौजूद पुलिस

इस मामले में पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने बताया कि दोनों की हत्या उन्हीं की नाबालिग बेटी ने की है। रेलवे अफसर की बेटी ने रेजर से खुद पर भी कई घाव किए। क्राइम का कारण डिप्रेशन लगता है। उसने अपने वाशरूम की दीवार पर अपने लिए 'डिसक्वालिफाइड ह्यूमन' लिखा था। उसने अपने वॉशरूम में शीशे पर गोली भी चलाई थी। उसे चाइल्ड प्रोटेक्शन होम भेजा जाएगा। फिलहाल उसे ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है।

मौके से .22 बोर की एक पिस्टल मिली
दोपहर को कंट्रोलरूम में दोहरे हत्याकांड की जानकारी मिली तो हड़कंप मच गया। डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी अैर पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय समेत फॉरेंसिक विशेषज्ञों और डॉग स्क्वॉयड ने घटनास्थल पहुंचकर छानबीन शुरू की। पुलिस को मौके से .22 बोर की एक पिस्टल मिली है। पुलिस ने खुलासा किया है कि नाबालिग बेटी ने ही गोली मारी है। वह राष्ट्रीय स्तर की निशानेबाज थी और उसके कमरे से गन बरामद हुई है। 

मां और भाई पर ताबड़तोड़ पांच गोलियां चलाईं
पुलिस आयुक्त ने बताया कि उसने किसी बात को लेकर पलंग पर सो रहे मां और भाई पर ताबड़तोड़ पांच गोलियां चलाईं, जिसमें से मालिनी की कनपटी पर दो और सर्वदत्त के सिर में एक गोली लगी। नाबालिग लड़की को हिरासत में ले लिया गया है। वारदात में इस्तेमाल पिस्टल बरामद कर ली गई है। पुलिस ने बताया है कि लड़की की मानसिक हालत सही नहीं थी।

नैशनल शूटर है बेटी
पुलिस आयुक्त ने बताया कि राजेश दत्त बाजपेई रेलवे बोर्ड में बतौर एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर इन्फार्मेशन तैनात हैं और दिल्ली में रहते हैं। यहां गौतमपल्ली के विवेकानंद मार्ग पर बंगला नंबर 9 में उनकी पत्नी मालिनी, बेटा सर्वदत्त और 16 वर्षीय बेटी रह रहे थे। दोपहर करीब सवा तीन बजे पुलिस कंट्रोल रूम को लड़की की नानी ने मालिनी और सर्वदत्त की हत्या की सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस को लड़की सदमे में मिली। उसके दोनों हाथों पर धारदार हथियार से खरोंचों के निशान थे। वह कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं थी। पुलिस की एक टीम ने डॉक्टर को बुलवाकर उसका उपचार शुरू कराया। मां-बेटे के शव पलंग पर पड़े हुए थे। दोनों के शरीर पर चादरें थीं। शवों की स्थिति देखकर ऐसा लग रहा था जैसे दोनों को सोते वक्त गोलियां मारी गई हैं। बता दें कि आरडी बाजपेयी की बेटी नैशनल शूटर है।

कमेंट करें
kX8bm