दैनिक भास्कर हिंदी: बेटे की चाहत में बहू को घर से निकाला बाहर, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया

September 2nd, 2019

डिजिटल डेस्क छतरपुर। बेटियां आज जहां देश और समाज का नाम रोशन कर ही हैं, वहीं आज भी बेटे न होने के कारण उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है। ताजा मामला छतरपुर जिले का प्रकाश में आया है, जहां एक बहू को केवल घर से मारपीटकर इसलिए निकाल दिया क्यों कि वह बेटे को जन्म नहीं दे सकी। खास बात यह है कि जैसे ही इस मामले की खबर नपा अध्यक्ष को लगी उन्होंने पीड़िता की बात पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान से करायी, जिसके बाद पूर्व सीएम ने उसे उचित न्यायय दिलाने का आश्वासन दिया। इसके बाद दोनों पक्षों को पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में समझाईश दी गई, जिसके बाद दोनों खुशी-खुशी घर लौट गए।

यह है पूरा मामला-
सिविल लाइन थाना क्षेत्र के अंतर्गत बेटे की चाह में लगातार तीन बेटियों के होने पर सीता साहू को घर से निकाल देने पर दर-दर की ठोकरें खा रही पीड़िता सीता साहू सिविल लाइन थाने पहुंची। जब इस बात की जानकारी नपाध्यक्ष अर्चना गुड्डू सिंह को लगी तो वे पीडि़ता सीता साहू से मिलने सिविल लाइन थाने पहुंची और  पीड़िता सीता साहू की  फोन पर सीधे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बात कराई। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीता साहू की बात सुनने के बाद  उसे आश्वासन दिया  है कि उसके साथ अन्याय नहीं होगा मैं शीघ्र इस मामले को देखता हूं, उन्होंने कहा कि मैं प्रशासन से बात करता हूं साथ ही परिवारजनों से बात कर उन्हें समझाऊंगा कि वे ऐसा न करें।

कृत्य निंदनीय है-
नपाध्यक्ष अर्चना गुड्डू सिंह इस पूरे मामले में पीडि़ता सीता साहू के साथ खड़ी दिखी उन्होंने कहा है कि एक और भाजपा सरकार बेटियों के लिए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं योजनाएं संचालित कर रही है दूसरी ओर आज के समाज में पुष्पेंद्र साहू और उनके परिवार के लोग इस तरह के कृत्य कर महिलाओं पर अत्याचार कर रहे हैं।  

समझाईश के बाद घर लौटे पति-पत्नी
सिविल लाइन थाने में बैठकर पीडि़त महिला सीता साहू का विवाद निपटा, छतरपुर विधायक आलोक चतुर्वेदी नगर पालिका अध्यक्ष अर्चना सिंह एएसपी जयराज कुबेर की आपसी समझाईश के बाद दोनों पति-पत्नी हुए एक,खुशी-खुशी अपने घर पहुचे,पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पीडि़त महिला से की थी बात।