जय भीम: 'हिंदी में बोलने' पर फिल्म Jai Bhim के सीन में मारा तमाचा, ट्विटर यूजर कर रहे हैं फिल्म का विरोध

November 3rd, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। जय भीम फिल्म के 02 नवंबर को रिलीज होने के बाद से ही, एक सीन को लेकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म यूजरस ने बवाल मचा दिया है। टी जे ज्ञानवेल की जय भीम ट्विटर पर काफी ट्रेंड कर रही है, इसके पीछे की वजह फिल्म का एक क्लिप है जिसमें प्रकाश राज एक आदमी को 'हिंदी में बोलने' के लिए थप्पड़ मारते हैं और उसे तमिल में बात करने के लिए कहते हैं।

इस सीन को लेकर कई सोशल मीडिया यूजर्स का कहना है की फिल्म में इसकी कोई जरूरत नहीं थी, यह सिर्फ हिंदी के लिए 'नफरत' फैलाने का काम कर रहा है। एक फिल्म क्रिटिक ने ट्वीट किया, "#जय भीम देखने के बाद मेरा दिल टूट गया,  मुझे किसी भी अभिनेता या दूसरों से कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन वास्तव में बुरा लगा, फिल्म में एक सीन है जहां एक व्यक्ति हिंदी बोलता है और प्रकाश राज उसे थप्पड़ मारते हैं और उसे तमिल में बोलने के लिए कहते है। फिल्म में इस तरह के सीन की जरूरत नहीं थी, उम्मीद है कि वह इसे काटेंगे।"

इसके साथ ही कई और सोशल मीडियो यूजर ने भी इस सीन पर नाराजगी जताते हुए ट्वीट किया है। पूरे सोशल मीडिया पर जय भीम ट्रेंड कर रहा है। वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इन दावों को यह कहकर खारिज कर रहे है कि यह हिंदी जानबूझ कर थोपने की जरूरत नहीं है,  अगर वह व्यक्ति अन्य भाषा में भी बोल रहा होता तो राज उसे थप्पड़ मारते।
बता दें की फिल्म 1993 की एक सच्ची घटना पर आधारित है, यह जय भीम सेंगगेनी और राजकन्नू के जीवन पर बनी है, जो इरुलर जनजाति से थे। पुलिस ने राजकन्नू को किसी मामले में दोषी ठहराया था और गिरफ्तार कर लिया था, जिसके बाद वह थाने से लापता हो गया था। सेंगगेनी अपने पति को इंसाफ दिलाने के लिए एक वकील चंद्रू की मदद लेती है।