दैनिक भास्कर हिंदी: प्रधानमंत्री के बजाए पाकिस्तान क्रिकेट कोच होने चाहिए थे इमरान खान

January 23rd, 2020

हाईलाइट

  • प्रधानमंत्री के बजाए पाकिस्तान क्रिकेट कोच होने चाहिए थे इमरान खान

मुंबई, 23 जनवरी (आईएएनएस)। नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसूफजई के जीवन पर बनी फिल्म गुल मकाई के निर्देशक अमजद खान को लगता है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री एक अच्छे क्रिकेटर हैं लेकिन नेता नहीं।

पाक प्रधानमंत्री ने भारतीय सिनेमा और संस्कृति के बारे में कटाक्ष किया था, जिसके बाद अमजद खान ने उनपर यह टिप्पणी की है।

हाल ही में, इमरान ने कहा था कि भारतीय संस्कृति और सिनेमा पाकिस्तान में बढ़ते अपराधों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

आईआईएम एसएएम-यूनेस्को के गुड विल एम्बेसडर अमजद ने कहा, प्रधानमंत्री होने के बजाए इमरान खान को क्रिकेट कोच होना चाहिए था। तब शायद पाकिस्तान की क्रिकेट टीम अच्छा कर लेती। एक नेता के तौर पर उनके कार्य इतने प्रभावशाली नहीं हैं। वह एक अनपढ़ व्यक्ति की तरह बात करते हैं।

उन्होंने आगे कहा, पाकिस्तान के लोगों में जो भी जागरूकता है, वह भारतीय फिल्मों और संस्कृति की वजह से ही है। माई नेम इज खान और लगान जैसी फिल्मों ने पाकिस्तान में जागरूकता पैदा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई हैं।

अमजद खान ने कहा, इसलिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को चाहिए कि वह ऐसी मूर्खतापूर्ण टिप्पणी करने के बजाए अपने देश की जीडीपी और आर्थिक संकट पर ध्यान दें।

उन्होंने आगे कहा, हाल ही मैं विश्व बैंक ने उन्हें कर्ज देने से इनकार कर दिया है। इसलिए मेरा उन्हें विनम्र सुझाव है कि आप अपने देश को असहाय होने से पहले उस पर ध्यान दें।

गुल मकाई फिल्म में मलाला के प्रारंभिक जीवन और अफगानिस्तान के आतंकी संगठन तालिबान के शासन को दिखाया गया है।