comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

द फॉरगॉटेन आर्मी: कबीर खान ने किया वास्तविक फुटेज का इस्तेमाल, 900 लोगों की टीम ने दिया साथ

द फॉरगॉटेन आर्मी: कबीर खान ने किया वास्तविक फुटेज का इस्तेमाल, 900 लोगों की टीम ने दिया साथ

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। अमेजन प्राइम वीडियो की वेबसीरीज 'द फॉरगॉटेन आर्मी - अज़ादी के लिए' में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की अगुवाई वाली भारतीय राष्ट्रीय सेना से परिचित करवाया जाएगा। चूंकि कहानी का एक बड़ा हिस्सा 1940 के दशक के सिंगापुर पर आधारित है, ऐसे में निर्देशक कबीर खान द्वारा मुंबई में द्वीप शहर के कुछ हिस्सों को रीक्रिएट किया गया है।

मुम्बई में रिक्रिएट किए सीन
निर्देशक कबीर खान ने हाल ही में एक इंटरव्यू में साझा किया कि उन्होंने सिंगापुर के सिटी हॉल को मुंबई में कैसे रीक्रिएट किया था। कबीर ने कहा था "हमने वर्तमान सिंगापुर के दृश्यों की शूटिंग उसी देश मे की है, लेकिन पुराने सिंगापुर की भव्यता को मुंबई में रीक्रिएट करना पड़ा था। हमने ऐसा अत्याधुनिक तकनीक की मदद से किया है। कबीर ने आगे बताया कि उनकी टीम ने प्री-प्रोडक्शन के हिस्से के रूप में उपलब्ध फुटेज को भी खंगाला है। सच कहूं तो, हमने शो में उन कुछ वास्तविक फुटेज का उपयोग किया है।"

नेताजी के भाषण के बिना अधूरी है सीरीज
बोस की बहादुर सेना की यह कहानी उनके प्रतिष्ठित भाषण, "तुम मुझे खून दो" के उल्लेख के बिना अधूरी होगी। सिंगापुर का सिटी हॉल इस ऐतिहासिक भाषण का गवाह था, ऐसे में मुंबई के फिल्म सिटी में इसका पुर्ननिर्माण किया गया था। कबीर खान कहते है कि "मेरे लिए यह महत्वपूर्ण था कि मैं सिंगापुर की प्रतिष्ठित जगहों को फिर से बनाऊं और उन घटनाओं का एक प्रामाणिक लेखा-जोखा प्रस्तुत करूं।

हमने कई रोंगटे खड़े कर देने वाले दृश्यों की शूटिंग की है जैसे कि जापानी द्वारा साइकिल पर ब्रिटिश सेना पर हमला बोलना। सिंगापुर सिटी हॉल से मार्च निकाल रहे 30,000 सैनिकों का अपनी राइफलें उठाते हुए 'जय हिंद' के नारे लगाना। हमने सिंगापुर में INA स्मारक पर भी शूटिंग की है। अधिकांश सेट ब्लूप्रिंट की मदद से बनाए गए थे और VFX के साथ उन्हें आगे बढ़ाया गया है। हमारे साथ लगभग 900 लोग चौबीसों घंटे काम करते थे।" 

स्वतंत्रता सेनानियों की अनकही कहानी है ये
यह श्रृंखला उन स्वतंत्रता सेनानियों की अनकही कहानी है, जिन्होंने भारत की आजादी के लिए मुश्किलों और गोलियों से संघर्ष की जंग लड़ी थी। 'द फॉरगॉटन आर्मी - अजादी के लिए' दर्शकों को उस दौर में वापस ले जाएगी, जहाँ भारतीय स्वतंत्रता ने संघर्ष की लड़ाई लड़ी थी और 55,000 सैनिकों के बलिदान ने हमारी स्वतंत्रता में योगदान दिया था।

इस दिन होगी रिलीज
अनुभवी फिल्म निर्माता कबीर खान द्वारा निर्मित और निर्देशित, 'द फॉरगॉटन आर्मी - आज़ादी के लिए' 24 जनवरी 2020 से अमेज़न प्राइम वीडियो पर स्ट्रीमिंग के लिए उपलब्ध होगी।

कमेंट करें
9oihP
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।