दैनिक भास्कर हिंदी: Birthday Spl: बड़े चंचल हैं इमरान खान, बचपन में जूही चावला को कर दिया था प्रपोज

January 13th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। बॉलीवुड में एक्टर और आमिर खान के भांजे इमरान खान का आज जन्मदिन है। इमरान खान आज 34 साल के हो चुके है। इमरान का जन्म 13 जनवरी 1983 को अमेरिका में हुआ था। उनके पिता अनिल पाल जो कि हिन्दू थे और माता नुजहत खान मुस्लिम है। इमरान एक बेहद ही उम्दा कलाकार है। इसके पीछे वजह भी है क्योंकि वह आपने मामा आमिर को फॉलो करते हैं। इमरान चुनिंदा फिल्मों का ही चयन करते हैं। इमरान की पहचान फिल्म जाने तू या जाने ना से मिली। इमरान ने बाल कलाकार के रुप में भी काम किया है। खास बात है कि इमरान ने जो किरदार निभाए वह फिल्म में अपने ही मामा आमिर के बचपन के किरदार थे। ये फिल्में क़यामत से कयामत तक और जो जीता वही सिकंदर रही।

 

 

 

 

इमरान खान को फ़िल्मी जगत के चॉकलेटी हीरोज में से एक गिना जाता है। फ़िल्मी बैकग्राउंड के ताल्लुक रखने के बाद भी इमरान बॉलीवुड में कुछ ज्यादा सक्रीय नहीं हैं। बॉलीवुड में इतने समय से रहने के बाद भी इमरान कोई खास हिट फिल्म नहीं दे पाए हैं। इमरान की अपनी शुरुआती पढ़ाई मुंबई के बॉम्बे स्कॉटिश स्कूल से हुई उसके बाद इमरान अपनी आगे की पढ़ाई के लिए बोर्डिंग स्कूल उटी चले गए।

 

 

 

 

जूही चावला से की सगाई, अवंतिका से की शादी

 

आपको बता इमरान खान के बचपन का एक किस्सा बता दें कि जब फिल्म कयामत से कयामत तक की शूटिंग चल रही थी, उस दौरान वह अपने मामा आमिर के साथ सेट पर जाया करते थे। जहां वह रोज जूही चावला से मिलते थे। इमरान को जूही बहुत पसंद थीं, और एक दिन फिल्म के सेट पर ही इमरान ने जूही को प्रपोज कर दिया और उन्हें रिंग पहना दी। जूही ने भी छोटे इमरान की रिंग को एक्सेप्ट कर लिया। उस समय इमरान करीब चार साल के थे। हालांकि उन्होंने बड़े होकर अपनी प्रेमिका अवंतिका मलिक से शादी कर ली। आठ साल के लंबे अफेयर के बाद यह जोड़ी 10 जनवरी 2011 को शादी के बंधन में बंध गयी थी। इमरान खान की एक बेटी भी है, जिसका नाम इमारा मालिक खान। इमरान ने अपनी गर्लफ्रेंड से सगाई की तो सगाई के गिफ्ट के तौर पर उन्होंने अवंतिका को फॉक्सवेगन बीटल कार दी थी।

 

 

 

 

सिंगर भी हैं इमरान खान

 

इमरान ने वैसे तो चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर छोटी सी उम्र में ही काम करना शुरू कर दिया था, लेकिन क्या आपको पता है कि वह एक सिंगर भी हैं। फिल्म 'जाने तू या जाने ना' में नजर आने के बाद उन्होंने 'आई हेट लव स्टोरीज़ (2010), देली बेली (2011) और मेरे ब्रदर की दुल्हन (2011) जैसी सफल फ़िल्मों में काम किया। फिल्मों के अलावा इमरान ने कुछ गानों को अपनी आवाज दी है और जिसमे 'मटरू की बिजली का मंदोला' फिल्म के गीत हैं, जिसे गुलजार ने लिखा।

 

 

 

 

किरदारों के लिए मिली सराहना

 

इमरान खान ने 54 वें फ़िल्मफेयर पुरस्कारों में फरहान अख्तर के साथ सर्वश्रेष्ठ उभरते अभिनेता का ख़िताब जीता था। फिल्म किडनैप के प्लॉप होने के बाद भी उनकी नकारात्मक भूमिका की सराहना की गई। 2009 में आइफा पुरस्कारों में उन्हें इस फिल्म के लिए नॉमिनेट किया गया। इमरान को अपने फ़िल्मी करियर की साख बचाने के लिए अभी भी एक हिट फिल्म की दरकार है।