दैनिक भास्कर हिंदी: #MeToo: सुभाष घई पर महिला ने लगाया दुष्कर्म का आरोप, बोले- मानहानि का केस दर्ज करूंगा

October 12th, 2018

हाईलाइट

  • #MeToo कैंपेन में देश के जाने माने डायरेक्टर एवं प्रोड्यूसर सुभाष घई भी फंस गए हैं।
  • राइटर और एक्टिविस्ट महिमा कुकरेजा ने पीड़ित महिला के साथ किए गए एक चैट का स्क्रीन शॉट शेयर किया है।
  • इस चैट में महिला ने सुभाष घई पर उनके साथ रेप करने का आरोप लगाया है।

डिजिटल डेस्क, मुंबई। #MeToo कैंपेन ने पिछले कुछ दिनों से सिनेमा जगत को हिलाकर रख दिया है। एक के बाद एक ऐसे कई राज खुलकर सामने आ रहे हैं, जिसने न केवल फिल्म इंडस्ट्री बल्कि पूरे देश को सकते में डाल दिया है। इसी कड़ी में देश के जाने माने डायरेक्टर एवं प्रोड्यूसर सुभाष घई भी फंस गए हैं। राइटर और एक्टिविस्ट महिमा कुकरेजा ने पीड़ित महिला के साथ किए गए एक चैट का स्क्रीन शॉट शेयर किया है। इस चैट में महिला ने सुभाष घई पर उनके साथ रेप करने का आरोप लगाया है। जबकि सुभाष घई ने इससे साफ इनकार किया है। सुभाष घई ने कहा है कि वह इस लड़की पर मानहानि का केस दर्ज करेंगे।

सुभाष घई ने कहा कोर्ट में जाकर प्रूव करे वह महिला
सुभाष घई ने इन आरोपों पर कहा, 'यह बहुत दुखद है। मैंने मीडिया के माध्यम से अपने ऊपर लगे आरोपों के बारे में सुना। मुझे इस बात का दुख है कि MeToo कैंपेन में तथ्यों के बारे में कोई बात नहीं कर रहा है। बिना किसी सत्य या अर्द्धसत्य के पुरानी कहानियां को लाकर किसी व्यक्त‍ि पर आरोप लगाना फैशन बनता जा रहा है। मैं अपने ऊपर लगे ऐसे सभी आरोपों को खारिज करता हूं। मैंने हमेशा से अपने लाइफ में और अपने वर्क प्लेस पर महिलाओं की इज्जत की है। मैंने हमेशा गरिमामयी जीवन जिया है और दूसरों की गरिमा का भी सम्मान किया है। अगर वह महिला ऐसे आरोपों का दावा कर रही है, तो उसे कोर्ट में जाकर प्रूव करना चाहिए। न्याय होगा और मैं निश्चित तौर पर उसपर मानहानि का केस करूंगा।'

क्या है मामला?
राइटर और एक्टिविस्ट महिमा कुकरेजा ने इस पोस्ट के साथ जो कैप्शन दिया है उसमें लिखा है कि वह उस पीड़िता की बात शेयर कर रही हैं, जिसपर यह सब बीती है। महिमा कुकरेजा के अनुसार पीड़िता भी मीडिया जगत की कोई हस्ती हैं। पीड़ित महिला पहले सुभाष घई के प्रोडक्शन हाउस में ही काम करती थीं।

 

 

पीड़ित महिला ने महिमा से बातचीत में बताया, 'मैं अपने नाम को गोपनीय रखना चाहती हूं, क्योंकि नाम आने पर मेरे घरवाले मुझसे नाराज हो जाएंगे। मेरे साथ यह मामला काफी पहले हुआ था और अब मेरे पास इसको लेकर कोई सबूत नहीं है। यह तब की घटना है जब मैं सुभाष घई के साथ एक फिल्म पर काम कर रही थी। मेरा उस वक्त फिल्म इंडस्ट्री में कोई गॉडफादर नहीं था और ऐसे में सुभाष घई ने मुझसे कहा था कि वह मेरी मदद करेंगे। एक दिन काम से लौटते वक्त उन्होंने मुझे घर छोड़ने की बात कही। कार में उन्होंने मेरे जांघ पर अपना हाथ रखते हुए कहा कि मैंने उस दिन बहुत अच्छा काम किया।'

 

 

पीड़ित महिला ने बताया, 'इसके बाद वह मुझे लोखंडवाला के अपने एक छोटे से अपार्टमेंट में काम के सिलसिले में बुलाने लगे। यहां वह अपनी बीवी के साथ नहीं रहते थे। कहा जाता था कि यह उनका सोचने वाला रूम है, जहां वह स्क्रिप्ट लिखते हैं। एक दिन वह अचानक रोने लगे और मेरी गोदी में लेट गए। इसके बाद गोदी से उठते वक्त उन्होंने मुझे जबरदस्ती किस किया। मैं हैरान थी और वहां से उठकर चली गई। अगले दिन सुभाष घई ने मुझे काम करते रहने के लिए कहा। उस वक्त मेरे पास कोई और ऑप्शन नहीं था, न ही कोई फाइनेंशियल सिक्योरिटी थी। मैं वहां फिर से काम करने लगी। मैंने इस बार में अपने असिस्टेंट डायरेक्टर और दो महिला मित्रों को भी बताया था। मैं उन दोनों का नाम नहीं लेना चाहुंगी क्योंकि सुभाष घई ने उनके साथ भी वैसा ही व्यवहार किया था।'

महिला ने आगे बताया, 'एक दिन रिकॉर्ड‍िंग के दौरान सभी क्रू मेंबर्स को लेट तक रुकना पड़ा था। देर होने के बाद सुभाष घई ने ड्र‍िंक करने का प्‍लान बनाया। मुझे भी ड्रिंक दी गई, लेकिन उसमें कुछ नशीला पदार्थ मिलाया गया था।‌ इसके बाद मुझे बस इतना याद है कि मैं उनकी कार में बैठी, क्योंकि मुझे लगा कि वह मुझे घर छोड़ने जा रहे हैं। मैं अपने बच्चे की कसम खाती हूं कि मैं सुभाष घई से बार-बार पूछ रही थी क‍ि वह कहां जा रहे हैं, क्योंकि मैं तुरंत घर जाना चाहती थी। सुभाष घई मुझे लोनावला स्थित फरियास होटल ले गए और वहां मेरे साथ दुष्कर्म किया। अगले दिन जब मैं उठी तो मुझे उल्टी आई। घई ने मुझे घर छोड़ा और मैंने एक सप्ताह बाद उनके ऑफिस से इस्तीफा दे दिया। उसके बाद मैं उनसे कभी नहीं मिली। यह कुछ चीजें हैं जो आपके दिमाग से कभी नहीं जाते और यह मेरे साथ भी हुआ है।'

खबरें और भी हैं...