दैनिक भास्कर हिंदी: मेरे पिता ने मुझे अपने स्पेस में खुश रहना सिखाया : शान

June 23rd, 2020

हाईलाइट

  • मेरे पिता ने मुझे अपने स्पेस में खुश रहना सिखाया : शान

नई दिल्ली, 23 जून (आईएएनएस)। बॉलीवुड के पाश्र्व गायक और संगीतकार शान ने अपने पिता को 14 साल की उम्र में खो दिया था। गायक ने कहा कि उनके पिता बेहद प्रतिभाशाली थे और वह उनके दो प्रतिशत भी नहीं हैं।

शान ने अपने पिता दिवंगत म्यूजिक डायरेक्टर मानस मुखर्जी के बारे में बात करते हुए आईएएनएस को बताया, मैंने जब अपने पिता को खोया तब मैं 14 साल का था और वो 43 वर्ष के थे। वह एक बहुत ही अनोखे व्यक्ति थे, उनकी निष्ठा मजबूत थी, जिसे मैंने आत्मसात किया।

शान ने कहा, उन्होंने मुझे सिखाया कि कभी भी ऐसी चीज का श्रेय मत लो, जो आपने नहीं किया है। उनसे मैंने एक और महत्वपूर्ण बात सीखी, वो है अपने स्पेस में खुश रहना। स्वाभाविक रूप से, वह बेहद प्रतिभाशाली थे और मैं उसका दो प्रतिशत भी नहीं हूं। मेरे पिता ने मेरे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

शान जो खुद भी एक पिता हैं, कहते हैं, भाग्यशाली हूं कि मेरे दो बच्चे हैं, जो बहुत शानदार हैं।

उन्होंने आगे कहा, मेरे दोनों बच्चों की अपनी अलग-अलग शख्सियतें हैं। मैं यह कहते हुए बहुत खुश महसूस करता हूं कि मुझे कभी भी उन्हें बहुत ज्यादा अनुशासित नहीं करना पड़ा या कभी भी उनके साथ बहुत ज्यादा सख्त नहीं होना पड़ा। मुझे यह कहने में गर्व का अनुभव होता है कि मेरे बच्चे, मेरा सम्मान करते हैं, मुझे प्यार करते हैं। मैं आशा और प्रार्थना करता हूं कि मैं उन्हें कभी निराश न करूं।

जब से तेरे नैना, चांद सिफारिश जैसे हिट गाने देने वाले शान लॉकडाउन के दौरान भी कई प्रोजेक्ट्स से जुड़े रहे। उन्होंने बताया कि वे कई ऑनलाइन रियलिटी शो भी कर रहे हैं।