दैनिक भास्कर हिंदी: Bday Spcl : जानिए ‘परेश रावल’ ने कैसे तय किया बॉलीवुड से राजनीति तक का सफर

May 30th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। बॉलीवुड में अपनी कॉमेडी से दर्शकों को हंसाने और बेहतरीन अदाकारी से दर्शकों का दिल जीतने वाले परेश रावल का आज जन्मदिन है। छोटे किरदारों से करियर की शुरुआत करने वाले परेश रावल ने कड़ी मेहनत के बाद बड़े पर्दे पर सफलता हासिल की है। टीवी सीरियल और सपोर्टिंग एक्टर का किरदार निभाने लेकर उन्होंने कई बड़ी फिल्मों में काम किया है। राजनीति में भी वो पीछे नहीं हैं। एक एक्टर के कई किरदार और हर एक किरदार में कैसे हासिल की सफलता, जानिए उनके सफर की कहानी....

 


परेश रावल का जन्म 30 मई 1950 को मुंबई में एक गुजराती परिवार में हुआ था। मुंबई में उन्होंने अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद छोटे किरदारों से फिल्मी सफर की शुरुआत की। कॉलेज के दिनों में ही परेश रावल की दिलचस्पी थिएटर की ओर बढ़ने लगी थी। शुरुआती पढ़ाई नर्सी मूंजी कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकनॉमिक्‍स, विले पार्ले, मुंबई से की। जिसके बाद नौकरी के लिए काफी संघर्ष किया। फिल्मों में आने से पहले परेश ने कुछ समय बैंक ऑफ बड़ौदा में भी काम किया था। 

 


जब वो थिएटर की ओर बढ़े तब बॉलीवुड में उन्हें पहले छोटे और फिर बड़े रोल मिले। शुरुआत में परेश रावल ने कुछ टीवी सीरियल्स में काम किया। 1984 में वो दूरदर्शन के एक सीरियल 'चुनौती' में नजर आए थे। उन्हें फिल्मों में भी आने में ज्यादा वक्त नहीं लगा। इसी साल उन्होंने बतौर एक्टर फिल्म 'होली' से फिल्मी दुनिया में भी कदम रख दिया। इस फिल्म का निर्देशन केतन मेहता ने किया था। इस फिल्म वो सपोर्टिंग एक्टर के रोल में नजर आए थे। 

 

 

बॉलीवुड में कदम रखने के बाद परेश पीछे नहीं मुड़े और लगातार कई सुपरहिट कॉमेडी फिल्मों में नजर आए। उन्होंने कुछ फिल्मों में विलेन का रोल भी बेहतर तरीके से निभाया है। फिल्म ओ माई गॉड में परेश रावल के अभिनय की काफी सराहना हुई थी। 1986 में 'नाम' फिल्म से वो मशहूर हुए। इसके बाद 1990 तक में उन्होंने 100 से अधिक फिल्में की। इनमें से कई फिल्मों में वो विलेन के रोल में नजर आए। फिल्म 'अंदाज अपना अपना' में पहली बार वो डबल रोल में नजर आए।

 

 

1994 में परेश को एक सपोर्टिंग रोल के लिए नेशनल फिल्म अवॉर्ड मिला था। परेश रावल केतन मेहता के निर्देशन में सरदार वल्लभ भाई पटेल के जीवन पर बनी फिल्म 'सरदार' में भी नजर आए। इसके बाद उन्होंने कॉमेडी फिल्मों की तरफ रुख किया और 2000 में फिल्म ‘हेरा-फेरी’ के लिए उन्हें बेस्ट कॉमेडियन का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला। 2014 में उन्हें पद्मश्री से भी नवाज़ा गया था। 

 

 


1979 में मिस इंडिया बनी स्वरूप संपत से परेश रावल ने शादी की। परेश ने 1975 में पहली बार स्वरूप को एक कार्यक्रम में देखा था और पहली नजर में ही उन्हें प्यार हो गया था। उनके दो बच्चे भी हैं जिनका नाम अनिरुद्ध और आदित्य है। परेश रावल की पत्नी भी कई फिल्मों में नजर आ चुकी हैं। उनकी फत्नी ने 'करिश्मा' 'नरम गरम', 'हिम्मतवाला' और 'की एंड का' जैसी कई फिल्मों में काम किया है।

 

 

जल्द ही वो संजय दत्त की बायोपिक 'संजू' में सुनील दत्त के किरदार में नजर आएंगे। हाल ही में फिल्म का एक पोस्टर जारी किया गया था जिसमें वो रणबीर कपूर के साथ दिखे थे।

 

 

फिल्मों की दुनिया के अलावा परेश रावल अहमदाबाद से लोकसभा सांसद भी हैं। ये भी खबर है कि भारत के पीएम मोदी पर एक फिल्म बनने वाली है, जिसमें मोदी के रोल में परेश रावल नजर आएंगे।