Health Tips: मेथी दाने (Fenugreek Seeds) के फायदे जानकर आप हो जायेंगे हैरान

August 30th, 2021

डिजिटल डेस्क, भोपाल। आप सभी मेथी के बारे में तो जानते ही होंगे। भारतीय हर किचन में मेथी आसानी से मिल जाती है। इसका उपयोग प्रत्येक घर में होता है चाहे वह बीजों के रूप में हो या उसकी हरी पत्तों की सब्जी के रूप में। मेथी की पत्तियों के साथ ही मेथी के दाने हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होते हैं। इस लेख में हम आपको मेथी दानों के के बारे में बताने जा रहे हैं कि मेथी क्या, मेथी के फायदे, Fenugreek in Hindi, methi ke laddu ke fayde, Fenugreek Benefits for Men, methi ke fayde, मोटापे को दूर करने में मेथी के फायदे, मेथी पानी के फायदे आदि।

मेथी के दानों का प्रयोग सौंदर्य प्रसाधनों के साथ ही साबुन बनाने में भी किया जाता है जो हमारी त्वचा के लिए फायदेमंद होता है। आयुर्वेद में मेथी का उपयोग दवा के रूप में किया जाता है और इससे कई रोगों का उपचार भी किया जाता है। तो आइये शुरू करते हैं इस लेख को —  मेथी (Methi) के फायदे

मेथी क्या है — What is Fenugreek ?
मेथी (Methi) के दाने कहां से प्राप्त होते है यह क्या है इन सभी सवालों का जवाब हम आगे देने जा रहे हैं। इसका पौधा पूरे साल में सिर्फ एक बार ही होता है। जिसकी लम्बाई 1 फीट से 3 फीट तक हो सकती है वह उसकी प्रजाती, स्थान एवं मौसम जहां पर वह होता है उस पर निर्भर करता है। मेथी के पौधे की पत्तियां छोटी—छोटी हरे रंग की होती हैं जिनका प्रयोग सब्जी के रूप में भी किय जाता है। पर इनका स्वाद हल्का कड़वा सा होता है। इसकी सब्जी को भी बड़ा गुणकारी माना जाता है।

मेथी (Fenugreek) के पौधे में सफदे रंग के फूल आते है जिसके बाद इसमें फलियां आ जाती है जिमें 10 से लेकर 15 तक के पीले—भूरे रंग के छोटे आकार के दाने आते है इनको ही मेथी दानों (Fenugreek Seeds) कहा जाता है। फली के पूरी तरह से पक का सूखने के पश्चात ही इनको इससे अलग किया जाता है। आयुर्वेद विज्ञान में मेथी के बीजों का प्रयोग कई प्रकार के मसालों और रोगों के उपचार में भी किया जाता है।

अभी भी कई जगहों पर आज भी मेथी दानों के गुणों के कारण गर्भवती महिलाओं को मेथी के लड्डूओं को खिलाया जाता है। डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए मेथी व उसके तेल का प्रयोग किया जाता है। कई समस्याओं के साथ ही मेथी सेक्सुअल समस्याओं को भी ठीक करने में मदद करता है।

मेथी में पाये जाने वाले पोषक तत्व — Nutrients found in Fenugreek
मेथी दानों में प्रोटीन, फाइबर, आयरन, पोटेशियम, नियासिन, विटामिन सी के साथ ही कई और पोष्टिक तत्व पाये जाते हैं जो हमारे लिए फायदेमंद होते हैं। इसके अलावा इसमें डाओस्जेनिन नामक यौगिक पाया जाता है जो एस्ट्रोजन सेक्स हार्मोन को बढ़ाने के लिए फायदेमंद होता है। मेथी दानों के प्रयोग से आपका यौन जीवन को रोमांचक बन सकता है। इसके साथ ही यह यौन क्षमता को बढ़ाने का काम भी करता है। आगे के लेख में मेथी से होने वाले फायदों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

मेथी के फायदे — Fenugreek Benefits in Hindi
आगे हम आपको मेथी के बहुत से फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके स्वास्थ्य के लिए लाभदायक हो सकते हैं हम आशा करते हैं कि इन फायदों को जानकार आप अपने रोजमर्रा के जीवन में मेथी को शामिल कर इसके फायदों को अपना सकते हैं जिससे आपका शरीर स्वस्थ्य रहे और आपका जीवन खुशहाल हो सके।

1. ह्रदय रोग में मेथी के फायदे
मेथी के एंटीआक्सीडेंट गुणों के कारण ही इसको हृदय रोग के लिए फायदेमंद माना जाता है। मेथी शरीर में रक्त-संचार को सही रखने में मदद करता है। मेथी में उच्च मात्रा में घुलनशील फाइबर पाया जाता है जो दिल से जुड़े रोगों के खतरे को कम करने में मदद करता है। इसके साथ ही मेथी दोनों का प्रयोग कोलेस्ट्राल को कम करने के लिए किया जाता है। जिससे आपका हृदय स्वस्थ बना रहता है। इसके लिए आपको मेथी के 10 मिली काढ़े में एक चम्मच शहद को मिलाकर पीना चाहिए। या फिर आप प्रतिदिन मेथी दानों के चूर्ण का सेवन कर सकते हैं।

2. कब्ज में मेथी के फायदे
आज के युग में लगभग हर कोई कब्ज की समस्या से परेशान रहता ही है। इसका कारण है उनका खान—पान। कब्ज के उपचार में आप मेथी का प्रयोग एक औषधी के रूप में कर सकते हैं। मेथी में पाये जाने वाले बहुत से गुणों में एक यह भी है कि वह कब्ज की परेशानी में मदद कर सकती है। इसके लिए आप मेथी के पत्तों की सब्जी का प्रयोग कर सकते हैं इसमें पाया जाने वाला फाइबर आपको कब्ज की समस्या से मुक्ति दिला सकता है। इसके अलावा आप मेथी दानों के पाउडर का प्रयोग कर सकते हो। (methi ke fayde)

3. ब्लड शुगर में मेथी के लाभ
यदि आप ब्लड शुगर अर्थात डायबिटीज की बिमारी से परेशान है तो आपके लिए मेथी का प्रयोग करना लाभकारी हो सकता है। यदि आप मेथी का नियमित प्रयोग करते हैं तो आपका ब्लड शुगर लेबल कम हो सकता है। इसके लिए आप मेथी दानों का चूर्ण बना लें और एक चम्मच चूर्ण को खाली पेट गुनगुने पानी के साथ लें। या फिर आप रात को एक चम्मच मेथी के दानों को पानी में भीगो दें और सुबह उस पानी (Methi ke Pani) को पी लें और बचे हुये दानों को चबाकर खा लें। ऐसा करने से आपका डायबिटीज जरूर नियंत्रित हो जायेगा।

4. वजन कम करने में मेथी पानी के फायदे
यदि आप अपने बढ़ते वजन से परेशान हैं तो आप मेथी के प्रयोग से अपने वजन को कम कर सकते हैं इसमें पाये जाने ऐंटिऑक्सिडेंट और ऐंटि-इन्फ्लेमेट्री गुण आपके वजन को कम करने में मदद कर सकते हैं। यह शरीर में जमी अतिरिक्त चर्बी को बाहर निकालने में मदद करता है। इसके लिए आप मेथी दानों को रात भर पानी में भिगोने के लिए छोड़ दें और सुबह—सुबह खाली पेट इस पानी को पी लें या फिर आप मेथी के दानों को बिना तेल के एक पैन या तवे में सेक लें और इसका पाउडर बना लें। इस तैयार चूर्ण को आप पानी के साथ ले सकते हैं।

5. पुरुषों की शारीरिक शक्ति बढ़ाने में मेथी के फायदे
मेथी का प्रयोग प्राचीन समय से ही पुरुषों की शारीरिक शक्ति् को बढ़ाने के लिए किया जाता रहा है। इसके अतिरिक्त यह पुरूषों में ऊर्जा को बनाये रखने में भी मदद करती है। एक शोध के अनुसान यदि कोई पुरूष प्रतिदिन मेथी दानों का सेवन करता है तो उसकी शारीरिक क्षमता अन्य व्यक्ति के अनुसार बढ़ जाती है। मेथी के प्रयोग से आप अपने शरीर की कमजोरी को भी दूर कर सकते हैं।

6. पुरुषो की कामेच्छा बढ़ाये में मेथी के फायदे
मेथी को पुरुषो की कामेच्छा को बढ़ाने के लिए लाभकारी माना जाता है। मेथी में बहुत से गुण पाये जाते हैं उनमें से कुछ ऐसे हैं जो पुरुषो की कामेच्छा इच्छा को बढ़ाते हैं। जिन पुरुषो में कामेच्छा की कमी हो जाती है उनके लिए यह किसी वरदान से कम नहीं है। इसके लिए उनको मेथी के अर्क का उपयोग करना चाहिए। मेथी के अर्क से उनकी कामेच्छा तो बढ़ती ही साथ ही उनका स्टेमिना भी बढ़ जाता है। इसके साथ ही मेथी पुरूषों की यौन समस्याओं को दूर करने में भी लाभकारी हो सकती है।

7. प्रसव के बाद महिलाओं के लिए मेथी के फायदे
पुराने समय से ही मेथी के औषधीय गुणों के कारण महिलाओं को प्रसव के बाद मेथी का सेवन कराया जाता है। इससे  प्रसूता महिला के स्तनों में दूध की मात्रा बढ़ जाती है साथ ही माँ के दूध की गुणवत्ता भी बढ़ जाती है। ऐसा होने से शिशु का स्वास्थ्य भी ठीक रहता है और उसकी इम्यूनिटी पावर बढ़ जाती हैं। इसके लिए महिला को मेथी की सब्जी या उसका सूप पीना चाहिए। इसके अतिरिक्त आप मेथी के दानों, जीरा, सौंफ, सोया, गुड को आपस में अच्छी तरह से पीस लें औरे इस तैयार मिक्सर में गाय के घी को मिलाकर कर इस तैयार चूर्ण का प्रयोग करें। इससे महिलाओं के योनि के रोग के अतिरिक्त टीबी की बिमारी, खाँसी, बुखार, सांस की बिमारी, खून की कमी अर्थात एनीमिया में लाभ पहुंचता है।

8. गठिया में मेथी के फायदे
यदि आपको या आपके परिवार में किसी को गठिया की बीमारी है तो आपके लिए मेथी लाभ दायक हो सकती है। गठिया (अर्थराइटिस) वात दोष के कारण होता है और मेथी में पाये जाने वाला गुण वात को संतुलित करने में मदद करता है। मेथी गठिया (अर्थराइटिस) में होने वाले दर्द को कम करता है। मेथी का प्रयोग पुराने समय से ही आयुर्वेदिक चिकित्सा में  गठिया के उपचार में किया जाता रहा है।

9. मेथी के अन्य फायदे —

•    बालों को झड़ने के बताने में मेथी का प्रयोग
•    कान के बहने को करने में मेथी के फायदे।
•    पेट के रोगों में मेथी का लाभ
•    उल्टी रोकने में मेथी का प्रयोग
•    दस्त एवं पेचिश में।
•    पाचन-तंत्र को मजबूत करने में मेथी बहुत लाभकारी है। इसमें पाये जाने वाला •    फाइबर पाचन तंत्र को मजबूत करने में मदद करता है।
•    गैस की समस्या में मेथी के फायदे।
•    महिलाओं के मासिक धर्म विकार में मेथी के लाभ। 
•    घावों को शीघ्र ठीक करने लिए मेथी का प्रयोग किया जा सकता है।
•    लीवर की समस्याओं में भी मेथी लाभदायक होती है। 
•    त्वचा के रोगों में मेथी के लाभ
•    मेथी के प्रयोग से शरीर की सूजन को कम किया जा सकता है।