दैनिक भास्कर हिंदी: कोविड-19 : जामा मस्जिद के इमाम बोले, सरकार के मशविरे पर अमल करें

March 19th, 2020

हाईलाइट

  • कोविड-19 : जामा मस्जिद के इमाम बोले, सरकार के मशविरे पर अमल करें

नई दिल्ली, 19 मार्च (आईएएनएस)। दिल्ली की सबसे बड़ी मस्जिद जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने नमाजियों से कोरोनावायरस को लेकर सतर्कता बरतने की अपील की है। उन्होंने इस नाजुक मौके पर डॉक्टरों और सरकार द्वारा साझा की जा रही जानकारियों पर अमल करने को कहा है।

कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में अभी तक कई मंदिर एवं अन्य धार्मिक स्थलों को कुछ समय के लिए बंद किया जा चुका है।

दिल्ली के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने अपनी तकरीर में कहा, कोरोनावायरस की वजह से आज पूरी दुनिया इस बीमारी के गिरफ्त में है। आज इलाकाई, कौमी और इंसानी बिरादरी को मेडिकल हलकों के हवाले से संदेश दिए जा रहे हैं। मेडिकल के हवाले से, डॉक्टरों और विशेषज्ञों के जरिए आवाम को जो कुछ समझाया जा रहा है, आवाम को उस पर अमल करना चाहिए।

देशभर के डॉक्टरों और आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने देशभर में लोगों से भीड़भाड़ वाले स्थानों पर ना जाने की अपील की है। आईसीएमआर का कहना है कि भीड़भाड़ वाले स्थानों को नजरअंदाज करने और लोगों से दूरी बनाए रखने पर कोरोनावायरस के संक्रमण का खतरा काफी कम हो जाता है। जामा मस्जिद के शाही इमाम ने भी लोगों से विशेषज्ञ और डॉक्टरों की सलाह पर अमल करने का आग्रह किया है।

गौरतलब है कि जामा मस्जिद में ईद के मौके पर एक साथ 20 हजार 20 हजार एक साथ 20 हजार 20 हजार से अधिक लोग नमाज के लिए एकत्र होते हैं। सामान्य दिनों में भी यहां नमाज पढ़ने के लिए लोगों की भारी भीड़ इकट्ठा होती है। इसके अलावा हर शुक्रवार को जुमे की नमाज के दौरान भी लोगों की अच्छी खासी भीड़ जमा मस्जिद में एकत्र होती है।

जामा मस्जिद के शाही इमाम ने कहा, पूरी दुनिया में बिना किसी हिचक हुकूमतों की जानिब से की जानेवाली हिदायतों पर अमल किया जा रहा है। उन्होंने यहां स्थानीय लोगों से भी सरकार द्वारा कोरोनावायरस की रोकथाम के लिए जारी किए गए दिशा-निर्देशों को अमल में लाने की अपील की है।

वहीं, फतेहपुरी की शाही मस्जिद के इमाम डॉक्टर मुफ्ती मुकर्रम ने कहा, हम यह नहीं कह सकते कि मुसलमान मस्जिदों में न आएं, लेकिन हम यह कहेंगे कि जानकार डॉक्टरों के मशविरे पर अमल करना चाहिए। लोग अपने हाथ साफ रखें। छींकते खांसते समय रुमाल का इस्तेमाल करें।

वहीं, इमाम मुफ्ती मुकर्रम ने कहा कि इस बीमारी से बचने के लिए परहेज, दवा और खुदा पर भरोसा रखते हुए दुआ की जानी चाहिए।

कोरोनावायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए इससे पहले मुंबई के सिद्धिविनायक मंदिर, शिर्डी के साईं बाबा मंदिर, गुड़गांव के शीतला माता मंदिर समेत देशभर के दर्जनों बड़े मंदिरों में आगंतुकों के प्रवेश पर रोक लगाई जा चुकी है।