comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

जापान में 6.1 की तीव्रता का भूंकप, 3 लोगों की मौत, 60 से ज्यादा बुलेट ट्रेंने बंद

September 05th, 2018 17:28 IST
जापान में 6.1 की तीव्रता का भूंकप, 3 लोगों की मौत, 60 से ज्यादा बुलेट ट्रेंने बंद

हाईलाइट

  • जापान के ओसाका में भूंकप के झटके
  • भूंकप की तीव्रता 6.1 आंकी गई
  • भूंकप से 2 लोगों की मौत, 60 से ज्यादा ट्रेंने रद्द, 1 लाख से ज्यादा घरों में बिजली सेवा ठप

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पश्चिमी जापान के ओसाका प्रांत में सोमवार सुबह स्थानीय समयानुसार 7.58 बजे भूंकप के झटके महसूस किए गए। भूंकप की तीव्रता 6.1 आंकी गई है। भूंकप से ओसाका में भारी नुकसान हुआ है। 3 लोगों के मारे जाने की खबर है, जबकि 70 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हुए है। भूंकप का केन्द्र ओसाका प्रीकेक्चर के उत्तरी हिस्से में 13 किलोमीटर की गहराई में था। हालांकि, मौसम विभाग की ओर से सुनामी की चेतावनी जारी नहीं की गई है। बताया जा रहा है कि ये जापान में आया पिछले कुछ समय में सबसे खतरनाक भूकंपों में से एक है। बता दें कि इस क्षेत्र में 1995 में ग्रेट हंसिन भूंकप से काफी ताबाही हुई थी। 7.3 की तीव्रता वाले इस भूंकप में 6434 लोग मारे गए थे। 

घटना के बाद आपदा प्रबंधन मंत्री हाचिरो ओकोनोगी ने बताया है कि यमतोकोरियामा में एक रेलवे स्टेशन पर लिफ्ट में दो लोग फंस गए है। अपार्टमेंट और इमारतों में फंसे लोगों को बचाने का काम जारी है। इसके लिए आपदा प्रबंधन की टीम और पुलिस दोनों की मदद ली जा रही है। टोक्यो में मुख्य कैबिनेट सचिव योशीहाइड सुगा ने कहा है कि ओसाका में भूंकप की सूचना मिलने के बाद प्रधानमंत्री शिन्जो आबे ने स्थिति की जानकारी लेने के साथ ही आपातकालीन बैठक बुलाई है। इसके साथ भूंकप प्रभावित क्षेत्र में हर संभव मदद पहुंचाने की बात कही है। 

एक बच्ची और दो पुरुषों की मौत

भूंकप से ओसाका में एक बच्ची समेत दो पुरुषों की मौत हो गई है। तकात्सुकी में स्वीमिंग पुल के पास दीवार के गिरने जाने से बच्ची की दब ने मौत हो गई। इबारकी में घर के अंदर रखे बुकसेल्फ ऊपर गिर जाने से 80 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई वही एक अन्य व्यक्ति की जान भी भूंकप के तेज झटके आने से गई है।

60 से अधिक बुलेट ट्रेनें रद्द

जापान के ओसाका, शिगा, क्योतो और नारा में हाईस्पीड बुलेट ट्रेन और स्थानीय रेल सेवाएं बाधित हुई है। करीब 60 बुलेट ट्रेने रद्द की गई हैं। इसके साथ ही एक्सप्रेस वे भी बंद करा दिए गए थे। कंसई और कोबे इंटरनेशनल हवाई अड्डे अस्थायी रूप से बंद करा दिए गए थे, लेकिन स्थिति सामान्य होने के बाद हवाई यात्रा शुरू कर दी गई है। प्रशासन का कहना है कि भूकंप से क्षेत्र में 15 में से कोई भी परमाणु रिएक्टर प्रभावित नहीं हआ। भूकंप के बाद ओसाका में लगभग 170,000 घरों में बिजली आपूर्ति ठप हो गई।

कमेंट करें
2KPAU
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।