comScore

अफगानिस्तान की मस्जिद में डबल ब्लास्ट, 62 की मौत, 36 घायल

अफगानिस्तान की मस्जिद में डबल ब्लास्ट, 62 की मौत, 36 घायल

हाईलाइट

  • हस्का मेना जिले के नंगरहार प्रांत में आतंकवादी हमला
  • अभी तक किसी आतंकी संगठन ने नहीं ली हमले की जिम्मेदारी
  • अफगानिस्तान में 2019 का सबसे बड़ा आतंकी हमला

डिजिटल डेस्क, काबुल। पूर्वी अफगानिस्तान में नंगरहार प्रांत स्थित एक मस्जिद में शुक्रवार को नमाज के दौरान हुए 2 धमाके हुए, जिनमें करीब 62 लोगों की मौत हो गई। वहीं 36 से ज्यादा लोगों के घायल होने की सूचना है। प्रांतीय अधिकारी सोहराब कादरी ने बताया कि घटना दोपहर करीब 2 बजे की है। हस्का मेना जिले के नंगरहार प्रांत में जब धमाके हुए उस समय लोग मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए मौजूद थे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एक अधिकारी बताया कि घटना में मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है। अधिकांश घायलों को नजदीक के अस्पताल में ले जाया गया है। अभी तक किसी आतंकी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। दो दिन पहले तालिबान ने अफगानिस्तान के पूर्वी क्षेत्र में हुए एक फिदायीन हमले की जिम्मेदारी ली थी। यह पुलिस मुख्यालय के पास किया गया था। इसमें अफगान सुरक्षा बल के दो लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 26 लोग घायल हुए थे।

नंगरहार के लोक स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता जाहिर आदिल ने बताया कि 23 घायलों को राजधानी जलालाबाद भेजा गया है। बाकी लोगों का इलाज हस्कामेना जिला अस्पताल में किया जा रहा है। पूर्वी अफगानिस्तान में तालिबान और इस्लामिक स्टेट दोनों आतंकी संगठन सक्रिय हैं। ज्ञात हो कि संयुक्त राष्ट्र ने एक दिन पहले ही अपनी रिपोर्ट में अफगानिस्तान में चल रहे बर्बर युद्ध के चलते हुई ना​गरिकों की रिकॉर्ड मौतों का जिक्र किया था। इस रिपोर्ट के मुताबिक 2019 में अब तक 2,563 नागरिक मारे जा चुके हैं और 5, 676 घायल हुए हैं। यूएन की रिपोर्ट रिपोर्ट के मुताबिक 2018 के मुकाबले 2019 में इस अवधि में हिंसा से प्रभावित होने वाले नागरिकों की संख्या में 26% बढ़ोत्तरी हुई है।

2019 का सबसे बड़ा हमला
बता दें कि करीब दो माह पहले राजधानी काबूल में एक शादी समारोह के दौरान बड़ा ब्लास्ट हुआ था। इसमें 60 से ज्यादा लोग मारे गए थे। हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन आइएसआइएस (ISIS) ने ली थी।

कमेंट करें
d72I3