कैपिटल हिल विद्रोह मामला : 6 जनवरी को हुए दंगों की 8वीं सुनवाई ट्रंप पर निष्क्रियता का आरोप लगाने के बाद समाप्त हुई

July 22nd, 2022

हाईलाइट

  • न्यूयॉर्क टाइम्स ने 8 वीं सुनवाई के साक्ष्य के निष्कर्ष की सूचना दी

डिजिटल डेस्क, न्यूयॉर्क। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए 21 जुलाई का प्राइम टाइम वस्तुत: डी-डे साबित हुआ, क्योंकि 6 जनवरी को कैपिटल हिल विद्रोह की जांच कर रही कांग्रेस कमेटी ने भीड़ के हमले पर नए फुटेज उपलब्ध कराए। हाउस पैनल ने पहले कभी नहीं देखा कि व्हाइट हाउस के अधिकारी अमेरिकी सरकार पर हमले का जवाब देने के लिए कैसे पहुंचे, क्योंकि कमांडर इन चीफ ट्रम्प ने कुछ भी नहीं करने के लिए घंटों चुना।

6 जनवरी के दंगों की जांच करने वाली हाउस कमेटी ने राष्ट्रपति डोनाल्ड जे ट्रम्प की निष्क्रियता को 187 मिनट के दौरान दंगाइयों के कैपिटल में उतरने के बाद, सार्वजनिक प्रतिक्रिया जारी करने से पहले प्रलेखित किया। न्यूयॉर्क टाइम्स ने 8 वीं सुनवाई के साक्ष्य के निष्कर्ष की सूचना दी।

चयन समिति ने वर्चुअली एक विहंगम विवरण प्रदान किया कि कैसे, यहां तक कि कानून प्रवर्तन अधिकारियों, कांग्रेस के सदस्यों और उनके अपने उपाध्यक्ष माइक पेंस के जीवन को भी धमकी दी गई थी, ट्रम्प ने कुछ नहीं किया। फिर भी, समिति ने व्हाइट हाउस से पहले कभी नहीं देखे गए फुटेज में दिखाया, ट्रम्प ने निजी तौर पर यह मानने से इनकार कर दिया था कि मैं यह नहीं कहना चाहता हूं कि चुनाव समाप्त हो गया है।

पैनल ने ट्रंप से कहा, आप कमांडर इन चीफ हैं। आपके पास संयुक्त राज्य अमेरिका के कैपिटल पर हमला चल रहा था, और कुछ भी नहीं है? देश के सर्वोच्च रैंक वाले सैन्य अधिकारी, संयुक्त चीफ ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष जनरल मार्क ए मिले ने पैनल को बताया, कोई कॉल नहीं? कुछ नहीं? शून्य? मिले का बयान वस्तुत: ट्रम्प के खिलाफ एक साल की लंबी सुनवाई का चरमोत्कर्ष था और ऐसा लग रहा था कि यह उस मामले में एक समापन तर्क था जिसे पैनल ने ट्रम्प के खिलाफ बनाया था।

 

 (आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

खबरें और भी हैं...