दैनिक भास्कर हिंदी: जॉन मैकफी सॉफ्टवेयर पायनियर का हुआ स्पेनिश जेल में निधन

June 24th, 2021

हाईलाइट

  • जॉन मैकेफी का निधन
  • स्पेन की जेल में ली आखिरी सांस
  • अमेरिकी जेल को सौंपे जाने वाले थे मैकेफी

डिजिटल डेस्क, स्पेन। 75 वर्ष के ब्रिटिश-अमेरिकन कंप्यूटर प्रोग्रामर और बिजनसमैन जॉन मैकेफी की बुधवार को स्पेन के बार्सिलोना जेल में मृत्यु हो गई। गौरतलब है कि उसी दिन स्पेनिश अदालत ने फैसला सुनाया कि कर-चोरी के आरोपों में उन्हें अमेरिका को सौंपा जा सकता है। दुनिया भर में एंटीवायरस के गुरु कहे जाने वाले जॉन मैकेफी 1994 में अपनी वायरस से लड़ने वाली फर्म को बेचने और 2008 के वित्तीय संकट से अधिक संपत्ति खोने के बाद एक भगोड़े का जीवन जी रहे थे। अमेरिका में जॉन पर कई वर्षों तक टैक्स रिटर्न दाखिल नहीं करने का आरोप लगने के बाद आखिरकार 2020 से वे स्पेन की जेल में कैद थे। उनकी मौत की पुष्टि उनके वकीलों ने की और ये भी कहा कि मैकेफी को हमेशा परिस्थितियों का सामना करने वाले शख्स के रूप में याद किया जाएगा।
न्याय विभाग द्वारा लगाये गये आरोपों में कहा गया है कि जॉन ने क्रिप्टोकरेंसी को बढ़ावा देने और एक डॉक्यूमेंटरी के लिए अपनी जीवन कहानी बेचने से लाखों कमाए थे। साथ ही जॉन ने क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करके बैंक के माध्यम से पैसों को चैनल करके टैक्स भरने से बचने की कोशिश भी की थी। मैकेफी खुले रूप से गन, ड्रग्स और सेक्स की वकालत करते थे और दुनियाभर में उनके खिलाफ कई केस चल रहे थे। इतना ही नहीं उन्होंने  2020 और 2016 में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों में भी अपना हाथ आजमाया था।  
जॉन मैकेफी वर्जीनिया के रोनोक में पले-बढ़े थो। उनके पिता एक रोड सर्वेयर थे। उन्होंने प्रेस रिपोर्ट में कहा था कि उनके पिता शराबी थे और उनकी मां पर हाथ भी उठाते थे। जब मैकेफी 15 वर्ष के थे तब उनके पिता ने खुद को गोली मार ली थी।