दैनिक भास्कर हिंदी: जिम्बाब्वे: संसदीय चुनावों के बाद हिंसा में 3 प्रदर्शनकारियों की मौत

August 2nd, 2018

हाईलाइट

  • संसदीय चुनावों के बाद बुधवार को जिम्बाब्वे में हुई हिंसा में कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई है।
  • ये लोग राजधानी हरारे में प्रदर्शन कर रहे थे, जिसके बाद सुरक्षाबलों की तरफ से फायरिंग की गई जिसमें इनकी मौत हो गई।
  • प्रदर्शन करने वाले ये सभी लोग विपक्षी दल के समर्थक थे।

डिजिटल डेस्क, हरारे। संसदीय चुनावों के बाद बुधवार को जिम्बाब्वे में हुई हिंसा में कम से कम 3 लोगों की मौत हो गई है, वहीं दर्जनों घायल हो गए हैं। दरअसल ये लोग राजधानी हरारे में प्रदर्शन कर रहे थे, जिसके बाद सुरक्षाबलों की तरफ से फायरिंग की गई थी। प्रदर्शन करने वाले ये सभी लोग विपक्षी दल के समर्थक थे।

 



राष्ट्रपति एमर्सन नैनगागवा ने इस हिंसा के लिए विपक्षी गठबंधन को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा है कि यह चुनावी प्रकिया को बाधित करने की साजिश है। उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। वहीं विपक्षी गठबंधन का आरोप है कि सत्ताधारी दल जानू-पीएफ ने चुनावों में धांधली की है। उन्होंने इस घटना की आलोचना की है साथ ही इस कार्रवाई की तुलना रॉबर्ट मुगाबे के शासन से की है।

हरारे में बुधवार सुबह से ही एमडीसी गठबंधन के समर्थक जगह-जगह पर जुटने लग गए थे। जानू-पीएफ की जीत की खबरें आने के बाद ये लोग उग्र हो गए और जगह-जगह पर तोड़फोड़ शुरू कर दी। प्रदर्शनकारियों को कंट्रोल करने के लिए पुलिस ने इन पर आंसू गैस के गोले छोड़े, वॉटर कैनन से हमला किया, इसके बाद भी इनका प्रदर्शन जारी रहा। बाद में पुलिस को इन्हें कंट्रोल करने के लिए फायरिंग करनी पड़ी, जिसमें 10 लोगों की मौत हो गई।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अभी तक के नतीजों में जानू-पीएफ को 132 सीटें, एमडीसी गठबंधन को 59 सीटें और अन्य दलों को 2 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं। 17 सीटों के नतीजे घोषित नहीं किए गए हैं। यहां पर करीब 70 फीसदी लोगों ने मतदान किया था।