ब्रिटेन में गर्मी का तांडव: भीषण गर्मी की चपेट में ब्रिटेन, मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए कहा- अभी ओर बढ़ेगा गर्मी का टॉर्चर

July 21st, 2022

हाईलाइट

  • ब्रिटेन में कई जगहों पर 40 डिग्री तापमान दर्ज किया जा चुका है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। ठंडे मौसम के लिए प्रसिद्ध ब्रिटेन इन दिनों भीषण गर्मी की मार झेल रहा है। यहां का तापमान पहली बार 40 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया है। इससे पहले कभी भी इस यूरोपीय देश में पारा इतना नहीं चढ़ा। ब्रिटेन में पड़ रही गर्मी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि, बीते बुधवार को यहां की ट्रेन सर्विस को बड़े व्यवधान का सामना करना पड़ा। दरअसल, ज्यादा तापमान होने की वजह से जंगल में आग लग गई जिससे रेलवे रुट पर लगे सिग्नल और पटरियों को अच्छा खासा नुकसान हुआ। हीट वेव के कारण सरकार द्वारा कई स्कूलों को बंद करने का ऐलान भी किया जा चुका है। 

मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी

ब्रिटेन के मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि आने वाले दिनों में कम होने की बजाए बढ़ेगा। मौसम विभाग के मुताबिक, देश के कई इलाकों में अलग-अलग समय पर दर्ज करवाए जा रहे हैं। ऐसे में तापमान का आंकडा और भी बड़ा हो सकता है। मौसम के मिजाज को देखते हुए मौसम विभाग ने ब्रिटेन के कई इलाकों में रेड अलर्ट जारी कर दिया है। 

भीषण गर्मी का रेलवे व्यवस्था पर पड़ा बुरा असर

भीषण गर्मी की मार झेल रहे ब्रिटेन के लोगों के लिए परेशानी और बढ़ती हुई नजर आ रही हैं। परेशानी बढ़ने का कारण यहां की ट्रांसपोर्ट सुविधा पर गर्मी का बुरा असर पड़ना है। देश के ट्रांसपोर्ट सचिव ग्रांट शैप्स के अनुसार, ब्रिटेन का रेलवे सिस्टम अभी इतना एडवांस नहीं बना है कि वो ऐसे मौसम को सह सके। ट्रांसपोर्ट सचिव ने बताया कि तापमान 40 डिग्री के आसपास रहने के कारण रेलवे ट्रेक का पारा भी 50 से 70 डिग्री तक बढ़ जाता है। ऐसी कंडीशन में ट्रेन के डिब्बों का ट्रेक से उतरने का खतरा भी बढ़ जाता है। 
ब्रिटेन में रेलवे के अलावा हवाई सुविधा पर भी गर्मी का असर पड़ा है। यहां के लुटन एयरपोर्ट और रॉयल एयर फोर्स का रनवे तेज गर्मी की वजह से बुरी तरह प्रभावित हो गया था। 

वैज्ञानिकों ने गर्मी के तांडव का कारण

ब्रिटेन में कई जगहों पर 40 डिग्री तापमान दर्ज किया जा चुका है जबकि अभी गर्मी के दो महीने बाकी हैं। ऐसे में लोगों के मन ये सवाल बार-बार उठ रहा है कि आखिर वो क्या वजह है जिससे तापमान में इतना बड़ा परिवर्तन आया। वैज्ञानिकों ने इस सवाल का जवाब देते हुए बताया है कि, ब्रिटेन समेत अन्य यूरोपीय देशों में पड़ रही इस जानलेवा गर्मी की वजह ग्लोबल वार्मिंग है। कार्बनडाइऑक्साइड गैसों के अत्याधिक मात्रा में उत्सर्जन के कारण तापमान में यह बढ़ोत्तरी हुई है। 

खबरें और भी हैं...