comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग बोले- कश्मीर पर हमारी नजर है, पाक के मूल हितों पर हम उसका साथ देंगे


हाईलाइट

  • चीन और पाकिस्तान की दोस्ती अटूट है: जिनपिंग
  • कभी पाक तो कभी भारत की तरफ बोल रहा चीन
  • 11 अक्टूबर को पीएम मोदी से मिलने भारत आएंगे जिनपिंग

डिजिटल डेस्क, बीजिंग। बीजिंग में बुधवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से मुलाकात के दौरान चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि कश्मीर पर हमारी लगातार नजर है और चीन पाकिस्तान के मूल हितों से जुड़े मुद्दों पर उसका समर्थन करेगा। जिनपिंग ने कहा कि कश्मीर के हालात में सही और गलत क्या है, यह साफ हो चुका है। दोनों ही पक्षों को शांतिपूर्ण वार्ता के जरिए यह मसला सुलझाना चाहिए। 

चीन की न्यूज एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक, इमरान से मुलाकात के दौरान जिनपिंग ने कहा कि चीन और पाकि​स्तान की दोस्ती का रिश्ता अटूट है। हम चीन-पाकिस्तान के साझा भविष्य को नए युग में ले जाने के लिए मिलकर काम करते रहेंगे। हमारे रिश्तों में हमेशा उत्साह बरकरार रहेगा।

भारत में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की 11 अक्टूबर को मुलाकात होने वाली है। इससे पहले चीनी राष्ट्रपति का पाक पीएम इमरान से मुलाकात के दौरान आए इस बयान से साफ जाहिर होता है कि चीन ने कश्मीर मुद्दे पर अपना स्टैंड बदल लिया है। इससे पहले चीन के विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को कहा ​था कि कश्मीर मसले को द्विपक्षीय तरीके से हल किया जाना चाहिए। चीन इससे पहले कश्मीर मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र और उसकी सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव के मुताबिक समस्या को हल किए जाने की बात कह चुका है।

वहीं विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा था कि पिछले साल वुहान में हुए अनौपचारिक सम्मेलन के बाद भारत से हमारे द्विपक्षीय रिश्तों को एक अच्छी गति प्राप्त हुई है। हमने अपने आपसी मतभेदों को सुलझाते हुए सहयोग को बढ़ावा दिया है। ऐसे में चीन कभी पाकिस्तान और कभी भारत के पक्ष में बात कर रहा है। इससे साफ जाहिर होता है कि चीन खुद कश्मीर मसले पर अपना पल्ला झाड़ना चाहता है और दोनों देशों से अपने संबंधों को बनाए रखना चाहता है।

कमेंट करें
hwtB6