दैनिक भास्कर हिंदी: Coronavirus : अमेरिका में मौत का आंकड़ा 20 हजार के पार, खाई खोदकर एक साथ दफ्नाई जा रही लाशें 

April 12th, 2020

हाईलाइट

  • अमेरिका में आपातकालीन सर्जरी की आवश्यकता बढ़ी
  • अमेरिका में 43 हजार चिकित्सा कर्मियों को बर्खास्त किया

डिजिटल डेस्क, वॉशिंगटन। कोरोना वायरस का कहर दुनियाभर में जारी है, लेकिन इस वायरस से जिस देश को सबसे ज्यादा नुकसान होता दिखाई दे रहा है। वह सुपर पॉवर अमेरिका है। यहां अब तक 5 लाख 21 हजार से भी ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं और संक्रमण से मरने वालों की संख्या 20 हजार पार कर गई है। न्यूयॉर्क स्टेट में पुष्ट मामलों की संख्या दुनिया के किसी भी देश से अधिक है। कोविड-19 संक्रमण से मृतकों की संख्या में लगातार इजाफा होने के कारण अब यहां क​ब्रिस्तानों में जगह तक नहीं बची हैं। इन हालातों में 150 साल के अमेरिकी इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि जब न्यूयॉर्क शहर में खाई खोदकर शवों को दफ्नाया जा रहा है।   

अमेरिकी एबीसी के एक कार्यक्रम में एक रिपोर्ट प्रसारित हुई, जिसमें कहा गया था कि कोविड-19 के मृतकों की संख्या अस्पताल के शवगृह की क्षमता से अधिक हो गई, सरकार को 150 साल के इतिहास वाले अमेरिका के सबसे बड़े कब्रिस्तान हार्ट आइलैंड में खाई खोदकर लावारिस शवों को दफनाना पड़ा। वहीं न्यूयॉर्क में सामूहिक रूप से शवों को दफनाने की तस्वीरें सामने आई हैं। हार्ट आइलैंड की इन तस्वीरों में सुरक्षित कपड़े पहने हुए कर्मचारी गहरे खाईनुमा गड्ढों में लकड़ियों के ताबूतों को रखते हुए नजर आ रहे हैं। ड्रोन से ली गई ये तस्वीरें जिस जगह की हैं वहां 150 से ज्यादा सालों से ऐसे लोगों को सामूहिक तौर पर दफनाया जाता रहा है, जिनका कोई करीबी या रिश्तेदार नहीं होता या जो बेहद गरीब होते हैं।

न्यूयॉर्क में सबसे ज्यादा संक्रमित और मौतें
अमरीका में न्यूयॉर्क की हालत सबसे गंभीर है। इस एक शहर में कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या अमरीका के अलावा दुनिया के किसी भी एक देश में संक्रमित रोगियों की संख्या से ज्यादा है। न्यूयॉर्क में कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या 1 लाख 60 हजार से ज्यादा है, जिनमें 8 हजार से ज्यादा की मौत हो चुकी है।

हर दिन आ रही 25 लाशें, ठेके पर दिया लाशों को दफनाने का काम
समाचार एजेंसी एपी के अनुसार हार्ट आइलैंड पर सामान्यतः एक हफ्ते में करीब 25 लाशें आया करती थीं और अंत्येष्टियां हफ्ते में एक ही दिन होती थी, लेकिन सुधारगृह विभाग के प्रवक्ता जेसन कर्स्टन का कहना है कि अब यहां हफ्ते में 5 दिन लाशों को दफनाया जा रहा है और हर दिन लगभग 25 लाशें आ रही हैं। यहां लाशों को दफनाने का काम शहर की मुख्य जेल राइकर्स आइलैंड के कैदियों से करवाया जाता था, लेकिन  काम बढ़ने के बाद अब ये काम ठेकेदारों को सुपुर्द कर दिया गया है। अभी ये स्पष्ट नहीं है कि मरने वालों में से कितनों के आत्मीय जन नहीं थे या कितने लोग गरीब थे।

अमेरीका में 24 घंटे में 2000 की मौत
अमरीका में शनिवार को पिछले 24 घंटों में 2000 से ज्यादा लोगों की मौत होने की खबर है। किसी एक ही दिन में किसी और देश में इतनी बड़ी संख्या में संक्रमित लोगों की मौत नहीं हुई है। अमरीका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, वहां पिछले 24 घंटों में 2,108 लोगों की मौत हुई है। 

राष्ट्रपति ट्रंप भी 1 लाख लोगों की मौत की आशंका जता चुके हैं
व्हाइट हाउस की कोविड-19 पर बनी टास्क फोर्स के जानकारों का कहना है कि अब ऐसा लग रहा है कि महामारी की स्थिति स्थिर हो रही है, लेकिन डॉक्टर डेबोरा बर्क्स ने साथ ही चेतावनी देते हुए कहा कि ये बात उत्साहवर्धक हो सकती है, लेकिन हम अभी भी संकट की चरम स्थिति तक नहीं पहुंचे हैं। अमरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी उम्मीद जताई है कि मरने वालों की संख्या एक लाख तक नहीं जाएगी जैसा कि आशंका जताई जा रही थी। राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि हम ये देख रहे हैं कि हमने जो आक्रामक रणनीति अपनाई उससे असंख्य लोगों की जान बच रही है।

अमेरिका में 43 हजार चिकित्सा कर्मियों को बर्खास्त किया
वॉक्स की रिपोर्ट के अनुसार 4 अप्रैल को अमेरिकी गैर-लाभकारी ट्रम संस्थान द्वारा जारी एक सर्वेक्षण से पता चला है अमेरिका कि कोविड-19 के प्रकोप के पहले महीने में अमेरिका भर में कुल 43 हजार चिकित्सा कर्मियों को बर्खास्त कर दिया गया था। यह घटना बेहद असामान्य है। ऐतिहासिक आंकड़ों से पता चला है कि जब आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होती है, तो आम तौर पर बड़ी संख्या में चिकित्सा कर्मचारियों को बर्खास्त नहीं किया जाना चाहिए। वर्तमान महामारी में बेरोजगार चिकित्साकर्मियों की संख्या लगभग 30 वर्षों में एक नए उच्च स्तर पर पहुंच गई है।

आपातकालीन सर्जरी की आवश्यकता बढ़ी
न्यूयॉर्क टाइम्स आदि मीडिया के विश्लेषण के अनुसार इसका अस्पताल की वित्तीय कठिनाइयों से संबंधित है। कोविड-19 की बढ़ती गंभीरता के साथ-साथ अमेरिका के दर्जनों स्टेटों ने अस्पतालों को निर्देश दिया है कि कोविड-19 से संक्रमित रोगियों को अधिक चिकित्सा संसाधनों को देने के लिए गैर-आपातकालीन सर्जरी को स्थगित करने की आवश्यकता है।

इसमें कोई संदेह नहीं है कि अमेरिकी लोग सरकार के अगले कदम पर ध्यान दे रहे हैं, लेकिन मामलों की संख्या बढ़ने के साथ-साथ अमेरिकी चिकित्सा प्रणाली को और भी अधिक गंभीर चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा।

खबरें और भी हैं...