comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Coronavirus in world:इस साल अं​त तक दुनिया को कोरोना वैक्सीन दे सकता है यूरोप, ब्राजील में पुरानी कब्रों से निकालनी पड़ रहीं हड्डियां

June 14th, 2020 03:41 IST
Coronavirus in world:इस साल अं​त तक दुनिया को कोरोना वैक्सीन दे सकता है यूरोप, ब्राजील में पुरानी कब्रों से निकालनी पड़ रहीं हड्डियां

हाईलाइट

  • पाकिस्तान : पूर्व पीएम गिलानी भी कोरोना संक्रमित
  • रूस : 24 घंटे में संक्रमण के रिकॉर्ड 8,700 मामले

डिजिटल डेस्क, वॉशिंगटन। दुनिया कोरोना वायरस महामारी से जूझ रही है। www.worldometers.info/coronavirus वेबसाइट के अनुसार शनिवार रात 2 बजे तक दुनियाभर में 78 लाख 27 हजार 617 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 4 लाख 30 हजार 787 लोग संक्रमण के कारण अपनी जान गवां दी है, वहीं 40 लाख 14 हजार 360 लोग स्वस्थ हुए हैं। इसके अलावा कोरोना के 33 लाख 82 हजार 470 एक्टिव केस हैं। कोरोना वायरस वैक्सीन के लिए इटली, जर्मनी, फ्रांस और नीदरलैंड्स ने फार्मा कंपनी अस्त्राजेनेका के साथ एक समझौता किया है। इसके तहत कंपनी यूरोप को वैक्सीन के 40 करोड़ डोज देगी। उधर, संक्रमण का नया केंद्र बने ब्राजील में कब्रिस्तानों के भीतर शवों को दफनाने की जगह तक नहीं बची है। साओ पाउलो शहर में पुरानी कब्रों से हड्डियां निकालकर नए शवों को दफनाया जा रहा है। वहीं पाकिस्तान में शाहिद खकान अब्बासी के बाद एक और पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी संक्रमित हो गए हैं।

वहीं, चिली के स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोनावायरस के मामले बढ़ने पर शनिवार को इस्तीफा दे दिया। राष्ट्रपति सेबैस्टियन पिनेरा ने स्वास्थ्य मंत्री जेम मैनेलिच के इस्तीफे की जानकारी दी। चिली में अब तक संक्रमण के कुल एक लाख 67 हजार 355 मामले आए हैं और 3101 लोगों की मौत हो चुकी है।  

  • कोरोना संक्रमण के सबसे अधिक मामले अमरीका में हैं, जहां 20 लाख लोग इस वायरस की चपेट में हैं। यहां मरने वालों का आंकड़ा 1.15 लाख से अधिक हो चुका है।
  • भारत में बीते चौबीस घंटों में संक्रमण के 11,458 ताजा मामले दर्ज किए गए हैं। देश में अब तक कुल संक्रमितों का आंकड़ा 308,993 है, हालांकि इनमें 145,779 एक्टिव मामले हैं।
  • तुर्की में बीते चौबीस घंटों में संक्रमण के 1,459 नए मामले दर्ज किए गए हैं। यहां हाल में लॉकडाउन में ढील दी गई थी। बीते कल यहां कोरोना के 1,195 मामले सामने आए थे।
  • ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा है कि संक्रमण के मामले बढ़ते रहे तो एक बार फिर लॉकडाउन लगाया जा सकता है। शनिवार को यहां संक्रमण के 2,400 से भी अधिक मामले दर्ज किए गए हैं।

कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश 

देश

संक्रमितमौतेंस्वस्थ हुए
अमेरिका21,27,0311,17,0398,42,921
ब्राजील8,31,06441,9524,27,610
रूस 5,20,1296,829 2,74,641
भारत3,17,3689,1091,59,597
ब्रिटेन2,94,37541,662उपलब्ध नहीं
स्पेन2,90,289 27,136उपलब्ध नहीं
इटली2,36,65134,3011,74,865
पेरू2,20,7496,3081,07,133
जर्मनी1,87,3248,8631,71,900
ईरान1,84,9558,7301,46,748

कोरोना वायरस के कारण ब्राजील में बुरे हालात
ब्राजील के इस महानगर में कब्रिस्तानों में जगह खाली करने के लिए यह अपरंपरागत योजना बनाई गई है। अतीत में दफन लोगों की कब्रों को खोदकर हड्डियों के बैग को बड़े धातु के कंटेनर में संग्रहीत किया जा रहा है। साओ पाउलो की नगरपालिका के अंतिम संस्कार सेवा ने बताया कि ये कंटेनर 15 दिनों के भीतर कई कब्रिस्तानों में पहुंचा दिए जाएंगे। करीब 1.2 करोड़ लोगों के इस शहर में शुक्रवार तक 5,480 लोगों की मौत हो चुकी है। यहां सामाजिक दूरी की भी उपेक्षा हुई है। स्वास्थ्य जानकारों के मुताबिक, देश में आने वाले दिनों में परेशानी और बढ़ सकती है। देश में अब तक 41,901 लोग मारे जा चुके हैं जबकि 8.29 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। देश में सभी तरह के प्रतिबंध हटाने के बाद सार्वजनिक परिवहन और मॉलों में भीड़ बढ़ गई है। जानकारों का मानना है कि अगस्त में देश में कोरोना संक्रमण अपने चरम पर होगा।

पाकिस्तान : पूर्व पीएम गिलानी भी कोरोना संक्रमित
नौ जून को पूर्व पीएम शाहिद खाकान अब्बासी के बाद अब देश के एक और पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी में कोरोना वायरस के लक्षणों की पुष्टि हुई है। गिलानी के बेटे ने आरोप लगाया है कि उनके पिता नेशनल अकाउंटेबिलिटी ब्यूरो यानी नैब की वजह से संक्रमित हुए। बता दें कि नैब गिलानी व अब्बासी दोनों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कर रही है। इस बीच, देश में कुल 1,34,667 लोग संक्रमण के शिकार हुए हैं जबकि अब तक कुल 2,574 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

रूस : 24 घंटे में संक्रमण के रिकॉर्ड 8,700 मामले
रूस में 24 घंटे में कोरोना वायरस से संक्रमण के रिकॉर्ड 8,700 मामले सामने आए और 114 लोगों की मौत हो गई। रूस में संक्रमण के कुल मामले 5.20 लाख से ज्यादा हो चुके हैं जबकि मरने वालों का आंकड़ा 6.5 हजार से भी ज्यादा हो चुका है।

फ्रांस : यूरोप में यात्रा की इजाजत मिलेगी
फ्रांस सरकार 15 जून से ट्रैवल बैन कुछ हद तक हटाने जा रही है। यहां जानकारी गृह मंत्री क्रिस्टोफी कास्टनर ने दी। यूरोपीय यूनियन से आवाजाही अब हो सकेगी। अंडोरा, आईसलैंड, मोनाको, नॉर्वे, सैन मरीनो और स्विट्जरलैंड से भी लोग आवाजाही कर सकेंगे। इन देशों से आने वालों पर क्वारैंटाइन की पाबंदियां भी लागू नहीं होंगी। स्पेन और ब्रिटेन के लिए सख्त पाबंदियां फिलहाल जारी रहेंगी। स्पेन से आने वालों को 14 दिन क्वारैंटाइन रहना होगा।

कमेंट करें
u0rbv
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।