दैनिक भास्कर हिंदी: G-20: BRICS बैठक में बोले मोदी- आर्थिक अपराध करने वाले दुनिया के लिए बड़ा खतरा

December 1st, 2018

हाईलाइट

  • G-20 समिट में पीएम मोदी ने की शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय बैठक
  • पीएम मोदी BRICS देशों की बैठक में भी शामिल हुए
  • BRICS बैठक में पीएम बोले- आतंकवाद और उग्रवाद दुनिया के लिए बड़ा खतरा

डिजिटल डेस्क, ब्यूनस आयर्स। अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में चल रही G-20 समिट के इतर पीएम मोदी ने शुक्रवार को चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय बैठक की। बैठक में दोनों देशों के सम्बंधों को मजबूत करने को लेकर पहले हुई अनौपचारिक मुलाकातों की समीक्षा की गई। G-20 समिट के इतर पीएम मोदी ब्रिक्स देशों की अनौपचारिक बैठक में भी शामिल हुए, जहां उन्होंने आर्थिक अपराध करने वालों को दुनिया के लिए एक बड़ा खतरा बताया। पीएम मोदी ने इसके साथ ही G-20 में शामिल विभिन्न देशों के राष्ट्राध्यक्षों से मुलाकात की।

शी जिनपिंग के साथ बैठक
चीन के साथ द्विपक्षीय बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि यह साल दोनों देशों के द्विपक्षीय सम्बंधों के लिए अच्छा और महत्वपूर्ण रहा है। हम उम्मीद करते हैं कि अगला साल इससे भी बेहतर रहेगा। पीएम ने कहा, 'वुहान में हमारी इन्फार्मल समिट द्विपक्षीय सम्बंधों के लिए मील का पत्थर साबित हुई। इससे हमारे इंगेजमेंट को नया मोमेंटम मिला। हम अगले वर्ष भारत में ऐसी ही इन्फार्मल सिमिटी के लिए बेहद उत्सुक हैं।

 

 

BRICS देशों की बैठक में आतंकवाद पर निशाना
BRICS देशों के राष्ट्राध्यक्षों के बीच हुई बैठक को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने आतंकवाद को दुनिया के लिए एक बड़ा खतरा बताया। उन्होंने रेडिकलिज्म और बड़े आर्थिक अपराध करने वालों को भी दुनिया के लिए एक बड़ा खतरा बताया। पीएम ने कहा, 'दुनिया में इस समय आतंकवाद और उग्रवाद सबसे बड़ा खतरा हैं। आर्थिक अपराध करने वाले भी दुनिया के लिए एक बड़ा खतरा बने हुए हैं। हम सभी साथी देशों को काले धन के खिलाफ मिलजुल कर काम करना होगा।' बैठक में पीएम ने यह भी कहा कि हम सभी देशों को एक आवाज में यूएन में विकासशील देशों के हित में बात करनी चाहिए। इसीलिए हम सभी यहां एकत्र हुए हैं।

 

 

लीडर्स लॉन्ज में चला मुलाकात का दौर
BRICS देशों की बैठक और चीन के साथ द्विपक्षीय बैठक के अलावा शुक्रवार को पीएम मोदी ने G-20 में शामिल सभी राष्ट्राध्यक्षों के साथ लीडर्स लॉन्ज में मुलाकात की। इस दौरान वे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन, ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे आदि से मिले। पीएम मोदी टर्की, नीदरलैंड और मैक्सिको के लीडर्स से भी मिले।