पाकिस्तान : गृहमंत्री का आरोप, टीएलपी ने पुलिस पर कलाश्निकोव, एके 47 इस्तेमाल किया

October 28th, 2021

हाईलाइट

  • पाकिस्तान पर प्रतिबंध लगाना चाहती है विदेशी ताकतें

डिजिटल डेस्क। नई दिल्ली। पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख रशीद ने आरोप लगाया है कि टीएलपी (तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान) के प्रदर्शनकारियों ने गुजरांवाला में पुलिसकर्मियों के खिलाफ कलाश्निकोव और एके 47 का इस्तेमाल किया।

रशीद ने कहा। कल मैंने चेतावनी दी थी कि विदेशी ताकतें पाकिस्तान पर प्रतिबंध लगाना चाहती हैं। द न्यूज ने बताया। टीएलपी एक उग्रवादी संगठन में बदल गया है क्योंकि इसके सदस्यों ने कलाश्निकोव का इस्तेमाल कर रहे पुलिसकर्मियों पर गोलियां चलाई थीं। पाकिस्तान के सूचना एवं प्रसारण मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि कई लोग हाथ में एके-47 लेकर प्रदर्शनकारियों में शामिल हुए।

उन्होंने प्रतिबंधित संगठन से राज्य के अधिकार को कम नहीं आंकने के लिए कहा। क्योंकि सरकार ने काफी देर तक इंतजार किया था। रशीद ने चेतावनी दी। टीएलपी पाकिस्तान में प्रतिबंधित है, और अब यह आशंका है कि इसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी प्रतिबंधित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अगर ऐसा होता है तो पाकिस्तान हस्तक्षेप नहीं कर पाएगा।

फ्राइडे टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार टीएलपी ने दावा किया है कि संघर्ष में उसके कई कार्यकर्ता घायल हुए हैं। शुक्रवार को लाहौर में टीएलपी से जुड़े दंगाइयों के साथ झड़प में तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। जबकि कई अन्य घायल हो गए। अयूब और खालिद के रूप में पहचाने जाने वाले दो पुलिसकर्मियों को कार्यकतार्ओं के वाहनों ने कुचल दिया। जो प्रतिबंधित संगठन के चल रहे विरोध का हिस्सा थे।

रिपोर्ट में कहा गया है कि टीएलपी कार्यकर्ताओं ने उन्हें रोकने की कोशिश कर रहे पुलिसकर्मियों को दो कारों में टक्कर मार दी। जिससे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। टीएलपी ने शुक्रवार को लाहौर से इस्लामाबाद के लिए अपना लंबा मार्च शुरू किया। लेकिन सरकार के साथ अपनी बातचीत जारी रखी। शहर में चरमपंथी समूह के आगमन से पहले राजधानी के अधिकारियों ने सड़कों को अवरुद्ध कर दिया। रावलपिंडी में मेट्रो बस सेवा को नियोजित लॉन्ग मार्च के आलोक में निलंबित कर दिया गया था। मंगलवार रात। प्रतिबंधित संगठन के नेताओं ने घोषणा की थी कि लंबा मार्च सुबह फिर से शुरू किया जाएगा। सरकार ने प्रांत में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पंजाब रेंजर्स को तलब किया है। शेख रशीद ने बुधवार को टीएलपी द्वारा चल रहे विरोध के बीच घोषणा की। इस्लामाबाद में एक संवाददाता सम्मेलन में रशीद ने कहा कि पाकिस्तान बहुत दबाव का सामना कर रहा है और देश में शांति स्थापित करना चाहता है।

 

(आईएएनएस)