दैनिक भास्कर हिंदी: UN में भारत ने पाक को दिया करारा जवाब, कहा- इमरान का भाषण नफरत से भरा

September 28th, 2019

हाईलाइट

  • यूएन में भारत की प्रथम सचिव विदिशा मैत्रा ने पाकिस्तान को दिया जवाब
  • मैत्रा ने कहा- इमरान खान का भाषण नफरत से भरा था, भाषण में झूठ भी शामिल था

डिजिटल डेस्क, संयुक्त राष्ट्र। भारत ने संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के आरोपों का करारा जबाव दिया है। सुयंक्त राष्ट्र में भारत की पहली सचिव विदिशा मैत्रा ने कहा, इमरान खान ने संयुक्त राष्ट्र के मंच का गलत इस्तेमाल किया है। इमरान खान का भाषण भड़काऊ और नफरत से भरा था। विदिशा मैत्रा ने पाकिस्तान के दावों की पोल खोलते हुए कहा, क्या पाकिस्तान इस बात को स्वीकार करेगा कि वो दुनिया का एकमात्र देश है जो ऐसे शख्स को पेंशन देता है जिसे संयुक्त राष्ट्र ने अल कायदा और ISIS जैसे आतंकियों की लिस्ट में रखा है। विदिशा मैत्रा ने कहा, पाक पीएम इमरान ने कश्मीर को लेकर जो कुछ भी कहा वह सब झूठ है। 

भारत के जवाब देने के अधिकार (राइट टू रिप्लाई) का इस्तेमाल करते हुए विदिशा मैत्रा ने शनिवार को कहा कि, पाक पीएम ने UN के मंच का गलत इस्तेमाल करते हुए नफरत भरा भाषण दिया। कश्मीर ही नहीं भारतीय मुसलमानों को लेकर इमरान के प्रॉपेगैंडे का जवाब देते हुए विदिशा ने कहा, भारतीयों को आतंकवाद की फैक्ट्री चलाने वाले देश से नसीहत लेने की जरूरत नहीं है।

विदिशा मैत्रा ने कहा, मानवाधिकार की बात करने वाले पाकिस्तान को सबसे पहले पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की हालत देखनी चाहिए जिनकी संख्या 23 प्रतिशत से 3 प्रतिशत पर पहुंच गई है। पाकिस्तान इतिहास न भूले और उसे याद रखना चाहिए कि 1971 में उन्होंने अपने लोगों के साथ क्या किया था। पाकिस्तान ने यूएन के मंच का दुरुपयोग किया और गुमराह करने की कोशिश की। पाकिस्तान ओसामा बिन लादेन का समर्थक रहा है।

विदिशा मैत्रा ने कहा, इमरान खान ने परमाणु युद्ध की धमकी दी। ये राजनीतिक अस्थिरता है, न कि एक राष्ट्र की राजनीतिक कुशलता। भारत ने संयुक्त राष्ट्र में इमरान के दिए भाषण को हेट स्पीच बताते हुए कहा, उन्होंने इस वैश्विक मंच का दुरुपयोग किया। भारत ने इमरान के नस्लीय संहार, ब्लड बाथ, नस्लीय सर्वोच्चता, बंदूकें उठा लो, आखिर तक लड़ेंगे जैसे एक-एक शब्दों को गिनाते हुए कहा, यह उनकी मध्यकालीन मानसकिता को दिखाता है। विदिशा ने यूएन में साफ कहा कि इमरान खान की बोली गई हर बात झूठ है।

विदिशा मैत्रा ने सवाल करते हुए कहा, पाकिस्तान को फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स ने 27 प्रमुख मापदंडों में से 20 से अधिक के उल्लंघन के मामले में नोटिस दिया, क्या इसे वह झुठला देगा? क्या पाकिस्तान इस तथ्य की पुष्टि कर सकता है कि वह संयुक्त राष्ट्र द्वारा सूचीबद्ध 130 आतंकियों और 25 आतंकी संस्थाओं का पनाहगाह आज भी है?

 

 

खबरें और भी हैं...