रूस-यूक्रेन तनाव: यूक्रेन में अफगानों की सुरक्षा के लिए चिंतित इस्लामिक अमीरात

February 27th, 2022

हाईलाइट

  • कई क्षेत्रीय सरकारों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के साथ निकट संपर्क

डिजिटल डेस्क, काबुल। अफगानिस्तान के इस्लामिक अमीरात ने यूक्रेन में अफगान नागरिकों की सुरक्षा पर चिंता व्यक्त की है क्योंकि रूस और यूक्रेन सैनिकों के बीच संघर्ष को आज तीसरा दिन हो गया है। विदेश मंत्रालय (एमओएफए) ने शनिवार को ट्विटर पर कहा कि वह इस संबंध में कई क्षेत्रीय सरकारों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के साथ निकट संपर्क में है।

एमओएफए के प्रवक्ता अब्दुल कहर बल्खी ने कहा, इस्लामिक अमीरात यूक्रेन में अफगान नागरिकों और छात्रों की सुरक्षा के लिए चिंतित है और अपने नागरिकों को सुरक्षित निकालने के लिए सभी उपलब्ध सुविधाओं और संचार चैनलों का उपयोग कर रहे हैं। टोलो न्यूज ने बताया कि रूसी सैनिकों ने यूक्रेन के कई शहरों पर चौतरफा हमला किया है। पूर्व विदेश मंत्री, मोहम्मद हनीफ अतमार ने कहा कि वह यूक्रेन संघर्ष में फंसे अफगान नागरिकों की मदद के लिए राजनयिक प्रयास कर रहे हैं।

उन्होंने कई ट्वीट्स किए, पिछले कई दिनों से यूक्रेन, पोलैंड, चेकिया, स्लोवाकिया और श्रीलंका के राजनयिक यूक्रेन में अफगान नागरिकों और छात्रों की समस्याओं का समाधान करने का प्रयास कर रहे हैं। चूंकि रूस और यूक्रेन के बीच संघर्ष तेज हो गया है। इसलिए यूक्रेन में रहने वाले अफगानों के भाग्य पर चिंताएं बढ़ रही हैं। यूक्रेन में अफगान शरणार्थियों के प्रतिनिधि शहरयार वजीरी ने कहा, हम चिंतित हैं। कीव सहित कुछ शहरों में समस्याएं बढ़ गई हैं।

विश्वविद्यालय के प्रशिक्षक हामिद अजीज मुजादीदी ने कहा, चूंकि इस्लामिक अमीरात को मान्यता की समस्या है, इसलिए पूर्व सरकार के राजनयिकों को पोलैंड जैसे देशों से अफगानों के लिए अपनी सीमा फिर से खोलने के लिए पूछना चाहिए। यूक्रेन में रहने वाले अफगान नागरिकों की सही संख्या के बारे में कोई जानकारी नहीं है। यूक्रेन पर रूस के हमले के साथ ही दुनिया के कई देशों ने अपने नागरिकों को निकाल लिया है।

एक अंतर्राष्ट्रीय संबंध विश्लेषक नसीर अहमद हैदरजई ने कहा, राजनयिक स्रोतों और कतर स्थित राजनीतिक कार्यालय के माध्यम से इसे (इस्लामी अमीरात) को उच्च स्तर पर चिंताओं को साझा करने और रूस के विदेश मंत्रालय के साथ साझा करने की आवश्यकता है।

 

(आईएएनएस)