comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Mount Everest: 2.8 फीट बढ़ी माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई, 8848.86 मीटर हुई दुनिया की सबसे ऊंची चोटी की हाइट

Mount Everest: 2.8 फीट बढ़ी माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई, 8848.86 मीटर हुई दुनिया की सबसे ऊंची चोटी की हाइट

हाईलाइट

  • भूकंप की वजह से ऊंचाई पर असर का अनुमान था
  • 2017 में शुरू हुआ था एवरेस्ट की ऊंचाई नापने का

डिजिटल डेस्क, काठमांडू। दुनिया की सबसे ऊंचे पर्वत माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई को लेकर चौकांने वाली बात सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन और नेपाल की एजेंसियों ने मंगलवार को खुलासा किया कि माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई पहले से ज्यादा बढ़ गई है। नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप कुमार ग्यावली ने बताया कि माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई 8848.86 मीटर है, जो पहले के मुकाबले 2.8 फीट ज्यादा यानी 8848.86 मीटर पहुंच गई है।

नेपाल के विदेश मामलों के मंत्री प्रदीप कुमार ग्यावली, भूमि प्रबंधन मंत्री पद्मा कुमारी आर्यल, चीनी विदेश मंत्री वांग यी और अन्य अधिकारियों ने मंगलवार दोपहर एक वर्चुअल समारोह में यह घोषणा की। बता दें कि चीन और नेपाल ने संयुक्त रूप से माउंट एवरेस्ट की नई नापी गई ऊंचाई के बाद इसे दुनिया की सबसे ऊंची चोटी घोषित किया है।

भूकंप की वजह से ऊंचाई पर असर का अनुमान था
बता दें कि नेपाल सरकार का ऐसा अनुमान था कि 2015 में आए 7.8 तीव्रता के भूकंप और कुछ दूसरी भौगोलिक घटनाओं से चोटी की ऊंचाई में बदलाव आ सकता है। ऐसे में नेपाल सरकार ने फिर से ऊंचाई मापने का आदेश दिया। नेपाल सरकार ने इसको लेकर चीन के साथ समन्वय किया और फिर चीन ने एवरेस्ट की ऊंचाई मापने के लिए अपनी टीम भेजी थी।

2017 में शुरू हुआ था एवरेस्ट की ऊंचाई नापने का 
नेपाल ने 2017 से एवरेस्ट की ऊंचाई को फिर से मापना शुरू किया था और पिछले साल इस काम को पूरा कर लिया गया। वहीं पिछले साल चीनी राष्ट्रपति की नेपाल यात्रा के दौरान, नेपाल और चीन ने एवरेस्ट की ऊंचाई मापने के लिए सहमति जताई थी।

चीन और नेपाल के बीच हुआ समझौता
13 अक्‍टूबर 2019 को नेपाल और चीन के बीच माउंट एवरेस्‍ट की ऊंचाई नापने पर समझौता हुआ था। इसके तहत माउंट झूमलांगमा और सागरमाथा की ऊंचाई नापना तय हुआ था। माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई नापने के लिए पिछले साल एक दल चोटी पर भेजा गया था। उधर, इस साल तिब्बत की ओर से भी एक दल भेजा गया था।

पहले भारत ने नापी थी ऊंचाई
सर्वे ऑफ इंडिया ने 1954 में माउंट एवरेस्ट को नापा था, तब इसकी ऊंचाई 8848 मीटर बताई गई थी। हिमालय पर रिसर्च करने वाली कई संस्थाएं और वैज्ञानिक कई बार दावा कर चुके थे कि एवरेस्ट की ऊंचाई में लगातार बढ़ोतरी हो रही है।


 
 

कमेंट करें
7YLPy