comScore

Nobel Prize 2018: एच अरनॉल्ड, पी स्मिथ और सर ग्रेग्रॉरी को केमिस्ट्री का नोबेल

October 03rd, 2018 19:46 IST
Nobel Prize 2018: एच अरनॉल्ड, पी स्मिथ और सर ग्रेग्रॉरी को केमिस्ट्री का नोबेल

हाईलाइट

  • फ्रांसेस एच. अरनॉल्ड, जॉर्ज पी स्मिथ और सर ग्रेग्रॉरी पी विंटर को मिला केमिस्ट्री का नोबेल पुरस्कार
  • एंजाइम के डायरेक्ट इवॉल्यूशन के लिए फ्रांसेस एच. अरनॉल्ड को मिला नोबेल
  • जॉर्ज पी स्मिथ और सर ग्रेग्रॉरी पी विंटर को फेज डिस्प्ले मैथड के लिए दिया गया नोबेल

डिजिटल डेस्क, स्टॉकहोम। रॉयल स्वीडिश अकेडमी ऑफ साइंसेज़ ने साल 2018 के लिए केमिस्ट्री के नोबेल पुरस्कार का ऐलान कर दिया है। इस साल यह सम्मान तीन वैज्ञानिकों को संयुक्त रूप से दिया जाएगा। इनमें फ्रांसेस एच अरनॉल्ड, जॉर्ज पी स्मिथ और सर ग्रेग्रॉरी पी विंटर के नाम शामिल हैं। अमेरिका के फ्रांसेस एच अरनॉल्ड को पुरस्कार का आधा हिस्सा और बाकी आधा हिस्सा अमेरिका के ही जॉर्ज पी स्मिथ और ब्रिटेन के सर ग्रेग्रॉरी पी विंटर को संयुक्त रूप से दिया जाएगा।

डॉ अरनॉल्ड ने एंजाइम की उत्पत्ति से सम्बंधित एक महत्वपूर्ण आविष्कार किया था, जो कैमिकल रिएक्शन  के लिए उत्प्रेरक का काम करता है। डॉ स्मिथ ने फेज डिस्प्ले मैथड को विकसित किया था, जिसमें एक वाइरस जो कि बैक्टीरिया को इंफेक्ट कर सकता है, उसे नए प्रोटिन को बनाने में उपयोग किया जा सकता है। डॉ विंटर ने फेज डिस्प्ले का उपयोग नई दवाईयां बनाने में किया था।

रॉयल स्वीडिश अकेडमी ऑफ साइंसेज़ ने कहा है कि डॉ अरनॉल्ड द्वारा डायरेक्ट इवोल्यूशन से बनाया गया एंजाइम बॉयोफ्यूल से लेकर मेडिकल ट्रीटमेंट तक में उपयोग किया गया। वहीं फेज डिस्प्ले की मदद से एंटीबायोटिक्स बनाई गई जो कि टॉक्सिन को न्यूट्रीलाइज करने, ऑटोइम्यून डिसीज को काउंटरएक्ट करने और मेटास्टिक कैंसर के इलाज में मददगार साबित हुईं।

अकेडमी का कहना है कि इस साल केमिस्ट्री का नोबेल पुरस्कार इवॉल्यूशन पॉवर व जेनेटिक चेंज और सिलेक्शन के प्रिसिंपल के प्रयोग से प्रोटिन्स बनाकर मानव जीवन की रासायनिक समस्या हल करने के लिए दिया गया है।

इससे पहले रॉयल स्वीडिश अकेडमी ऑफ साइंसेज ने मंगलवार को फिजिक्स के क्षेत्र में अमूल्य योगदान के लिए आर्थर अशकिन, गेरार्ड मोउरो और डोना स्ट्रिकलैंड को नोबेल पुरस्कार दिए जाने की घोषणा की थी। वहीं सोमवार को मेडिसिन के लिए साल 2018 के नोबल पुरस्कार का ऐलान हुआ था। मेडिसिन में नोबेल पुरस्कार के लिए जेम्स पी एलिसन और तासुकू होन्जो को चुना गया है। 

कमेंट करें
A89lw