comScore

नॉर्थ कोरिया का अमेरिका पर आरोप- गैंग्स्टर की तरह डिमांड कर रहा है ट्रंप प्रशासन

July 08th, 2018 01:23 IST
नॉर्थ कोरिया का अमेरिका पर आरोप- गैंग्स्टर की तरह डिमांड कर रहा है ट्रंप प्रशासन

डिजिटल डेस्क, प्योंगयांग। अमेरिका के प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप और नॉर्थ कोरिया के शासक किम जोंग उन की एतिहासिक मुलाकात में ये सहमति बनी थी कि नॉर्थ कोरिया अपने परमाणु हथियार नष्ट कर देगा। लेकिन अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो के नेतृत्व में नॉर्थ कोरिया पहुंचे डेलिगेशन के साथ हुई मुलाकात के बाद नार्थ कोरिया के तरफ से जो बयान सामने आया है वो कुछ और इशारा कर रहा है। नॉर्थ कोरिया ने शनिवार को कहा है कि पॉम्पियो से हुई उच्च स्तरीय वार्ता खेदजनक रही।

फॉलोअप बातचीत के परिणाम चिंताजनक
नॉर्थ कोरिया ने कहा कि अमेरिका परमाणु हथियार खत्म करने के लिए उस पर एकतरफा दबाव डाल रहा है। वह एक गैंग्सटर की तरह उनसे परमाणु हथियार नष्ट करने को कह रहा है। नॉर्थ कोरिया ने स्पष्ट कहा कि इस फॉलोअप बातचीत के परिणाम काफी चिंताजनक हैं। बता दें कि माइक पॉम्पियो की अपनी दो दिवसीय यात्रा में किम जोंग-उन से तो मुलाकात नहीं हुई, लेकिन नॉर्थ कोरिया के वरिष्ठ अधिकारी किम योंग चोल सहित अन्य अधिकारियों से उनकी बातचीत हुई। इस बातचीत के बाद पॉम्पियो ने कहा कि उनकी बातचीत काफी प्रोडक्टिव रही। वहीं इस मुलाकात के बाद नॉर्थ कोरिया की तरफ से काफी तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिली।

कई समझौतों पर हुए थे हस्ताक्षर
बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के लीडर किम जोंग के बीच हुई ऐतिहासिक मुलाकात में दोनों देशों के बीच महत्वपूर्ण समझौतों पर हस्ताक्षर हुए थे। ट्रंप और किम के बीच वन ऑन वन मीटिंग और फिर डेलिगेशन लेवल की मीटिंग के बाद जॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी देते हुए ट्रंप ने कहा था कि उत्तर कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण पर हमने एक 'विशेष अनुबंध' तैयार किया है और निरस्त्रीकरण की प्रक्रिया बहुत ही जल्द शुरू हो जाएगी। वहीं प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान किम ने कहा था कि हम एक बड़ी समस्या का हल करने जा रहे हैं, दुनिया एक बड़ा बदलाव देखेगी।

कमेंट करें
ES0rU