दैनिक भास्कर हिंदी: अमेरिका ने नहीं हटाया प्रतिबंध तो नॉर्थ कोरिया फिर बनाएगा परमाणु हथियार

November 4th, 2018

हाईलाइट

  • दो सालों तक युनजिन नीति पर काम करता रहा
  • सिंगापुर में मिले थे डोनाल्ड ट्रंप और किम
  • सोशलिस्ट देश बनाना चाहता है किम

डिजिटल डेस्क, प्योंगयांग। महीनों से परमाणु हथियारों के खात्मे का दावा कर रहे नॉर्थ कोरिया ने अमेरिका पर तीखा जुबानी हमला किया है। नॉर्थ कोरिया ने अमेरिका को धमकी दी है कि यदि उन्होंने देश पर लगे कड़े आर्थिक प्रतिबंध नहीं हटाए तो वो अपनी पुरानी परमाणु नीति पर लौट जाएंगे। दरअसल, दो सालों तक नॉर्थ कोरिया ने परमाणु क्षमता बढ़ाने के लिए युनजिन नीति पर काम किया है।


शांति की वकालत करते हुए अप्रैल में नॉर्थ कोरिया के शासक किम जोंग उन ने कहा था कि उनके देश की परमाणु आवश्यक्ताएं पूरी हो गई हैं। किम ने कहा था कि अब सोशलिस्ट इकॉनामी की मजबूती पर काम करके देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत किया जाएगा। किम ने कहा था कि अब देश सोशलिस्ट इकॉनमी के निर्माण पर काम करेगा। हालांकि विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी ताजा बयान में कहा गया है कि अगर अमेरिका ने प्रतिबंधों पर अपना रवैया नहीं बदला तो प्योंगयांग पुरानी नीतियों की तरफ लौट सकता है।

 

किम ने की थी परमाणु हथियार खत्म करने की घोषणा
बता दें कि सिंगापुर में जून में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के बीच ऐतिहासिक मुलाकात हुई थी। मुलाकात के दौरान नॉर्थ कोरिया ने कहा था कि हम परमाणु हथियारों को नष्ट करने की दिशा में कदम उठाएंगे। इसके बाद उम्मीद बंधी थी कि अब हथियारों की होड़ में लगाम लगेगी और कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव कम होगा, लेकिन ये मामला ज्यादा आगे ही नहीं बढ़ पाया।  

 
नॉर्थ कोरिया पर अमेरिका ने प्रतिबंध जारी रखे हैं। अमेरिका का तर्क है कि जब तक इस बात की पुष्टि नहीं हो जाती कि नॉर्थ कोरिया ने परमाणु हथियार पूरी तरह खत्म कर दिए हैं, तब तक प्रतिबंध नहीं हटाया जाएगा। अमेरिका के इस रुख की नॉर्थ कोरिया ने आलोचना की है। 

खबरें और भी हैं...