दैनिक भास्कर हिंदी: गधों के मामले में पाकिस्तान तीसरे नंबर पर, 50 लाख के पार हुई आबादी

December 19th, 2018

हाईलाइट

  • दिन ब दिन बढ़ती जा रही गधों की संख्या
  • पंजाब सरकार ने किया मुफ्त इलाज का बंदोबस्त
  • लोग मानते हैं गधे उनके व्यावसाय के लिए हैं शुभ

डिजिटल डेस्क, लाहौर। आतंकियों को पनाह देने के लिए पूरे विश्व में बदनाम पाकिस्तान इन दिनों एक दूसरी वजह से भी ख्याति हासिल कर रहा है। दुनियाभर के उन देशों में पाकिस्तान का तीसरे नंबर पर है, जहां सबसे ज्यादा गधे पाए जाते हैं। इस देश में गधों की संख्या 50 लाख के पार हो चुकी है। एक रिपोर्ट के मुताबिक अकेले लाहौर में ही 41 हजार से ज्यादा गधे हैं।


पाकिस्तान में 2017-18 के दौरान किए गए पाकिस्तान इकोनॉमिक सर्वे के मुताबिक इस साल देश में गधों की 1 लाख जनसंख्या बढ़ी है, जिसके बाद पाकिस्तान में 53 लाख गधे हो गए हैं। पाकिस्तान में स्थित पंजाब सरकार के पशु विभाग से ये जानकारी सामने आई है, जिसमें लिखा गया है कि गधों की संख्या में दिन ब दिन वृद्धि होती जा रही है।


गधों की संख्या में लगातार हो रही बढ़ोतरी को देखते हुए पंजाब सरकार ने उनके लिए एक अस्पताल भी बनवा दिया है, जिसमें गधों का मुफ्त इलाज किया जाता है। रिपोर्ट के अनुसार जानवरों के कारण बढ़ने वाले बोझ के मामले में भी पाकिस्तान तीसरे नंबर पर है। गधों के मालिकों का कहना है कि ये गधे उनके और उनके व्यावसाय के लिए शुभ हैं। लाहौर में रहने वाले लोग इन गधों का ख्याल खासतौर पर रखते हैं। इनका उपयोग लकड़ी की गाड़ियां खींचने, सामान रखकर ले जाने और निर्माण साइटों पर किया जाता है।


मालिकों के मुताबिक एक गधे से एक हजार रुपए तक की आमदनी हो जाती है। पाकिस्तान में गधे की कीमत 35 हजार रुपए से लेकर 55 हजार रुपए तक है। गधों का व्यापार करने वाले एक व्यक्ति के मुताबिक पाकिस्तान में गधों की खरीदी-बिक्री जोरों पर है, इसलिए उनका व्यापार काफी तेजी से बढ़ रहा है।