दैनिक भास्कर हिंदी: पेरिस में बोले PM मोदी- नए भारत में 3 तलाक, भ्रष्टाचार और परिवारवाद की जगह नहीं

August 24th, 2019

हाईलाइट

  • पेरिस में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय प्रवासियों को किया संबोधित
  • भारतीय प्रवासियों के सामने रखा पांच साल का विजन
  • जी-7 सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे फ्रांस दौरे पर गए हैं पीएम मोदी

डिजिटल डेस्क, पेरिस। जी-7 सम्मेलन में हिस्सा लेने फ्रांस पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज भारतीय समुदाय को संबोधित किया। 2019 के लोकसभा चुनाव में अप्रत्याशित जीत के बाद पीएम मोदी ने पहली बार प्रवासी भारतीयों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने अपने आने वाले पांच साल के विजन को आगे रखा। पीएम मोदी ने कहा कि भारत और फ्रांस की दोस्ती में किसी प्रकार का स्वार्थ नहीं है, बल्कि लिबर्टी, इक्वलिटी और फ्रेटरनिटी’ के ठोस आदर्शों पर टिकी है। उन्होंने कहा,'पूरी दुनिया में, एक तय समय में सबसे ज्यादा बैंक अकाउंट अगर किसी देश में खुले हैं, तो वो भारत है।' 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन से जुड़ी अहम बातें- 
 

  • भारत और फ्रांस के बीच संबंध सैकड़ों साल पुराना है।
  •  हमारी दोस्ती किसी स्वार्थ पर नहीं, बल्कि ‘लिबर्टी, इक्वलिटी और फ्रेटरनिटी’ के ठोस आदर्शों पर टिकी है: PM
  • Climate Change, Environment, और Technology के समावेशी विकास की चुनौतियों का सामना करने के लिए France और भारत एक साथ मज़बूती से खड़े हैं। 
  • हम दोनों देशों को आतंकवाद का लगातार सामना करना पड़ रहा है।
  • क्रॉस-बार्डर terrorism का मुकाबला करने में हमें फ्रांस का बहुमूल्य समर्थन मिला है, उसके लिए हम President मैक्रों को धन्यवाद देते हैं।
  • हमने security और counter-terrorism पर सहयोग को व्यापक बनाने का इरादा किया है।
  • मैं अपने अभिन्न मित्र President मैक्रों को इस चुनौतीपूर्ण समय में एक नए vision, उत्साह और कुशलता के साथ फ्रांस और G-7 के नेतृत्व के लिए शुभकामनाएं देता हूं।
  • हम दोनों देश मिलकर, सुरक्षित और समृद्ध विश्व का मार्ग प्रशस्त कर सकते हैं।
  • जब मैं 4 साल पहले फ्रांस आया था, तो हजारों की संख्या में भारतीयों से संवाद का अवसर मिला था। 
  • मुझे याद है, तब मैंने आपसे एक वादा किया था। मैंने कहा था कि भारत आशाओं और आकांक्षाओं के नए सफर पर निकलने वाला है। 
  • आज जब आपके बीच आया हूं तो कह सकता हूं कि हम न सिर्फ उस सफर पर निकल पड़े, बल्कि 130 करोड़ भारतवासियों के सामूहिक प्रयासों से भारत तेज गति से विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। 
  • यही कारण है कि इस बार फिर देशवासियों ने अधिक प्रचंड जनादेश देकर हमारी सरकार को समर्थन दिया है: PM
  • ये जनादेश सिर्फ एक सरकार चलाने के लिए नहीं, बल्कि नए भारत के निर्माण के लिए है।
  • ऐसा नया भारत जिसकी समृद्ध सभ्यता और संस्कृति पर पूरे विश्व को गर्व हो, और जो 21वीं सदी को Lead करे।
  • ऐसा नया भारत जिसका focus Ease of Doing Business पर हो और जो Ease of Living भी सुनिश्चित करे।
  • पूरी दुनिया में, एक तय समय में सबसे ज्यादा बैंक अकाउंट अगर किसी देश में खुले हैं, तो वो भारत है। 
  • पूरी दुनिया की अगर आज सबसे बड़ी हेल्थ एश्योरेंस स्कीम किसी देश में चल रही है, तो वो भारत है।
  • ये भी सच है कि पिछले पांच सालों में हमने देश से अनेक कुरीतियों को red card भी दे दिया है। 
  • आज नए भारत में भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद, परिवारवाद, जनता के पैसे की लूट, आतंकवाद पर जिस तरह लगाम कसी जा रही है, वैसा कभी नहीं हुआ।
  • नई सरकार बनते ही जल शक्ति के लिए एक नया मंत्रालय बनाया गया, जो पानी से संबंधित सारे विषयों को होलिस्टिकली देखेगा।
  • गरीब किसानों और व्यापारियों को पेंशन की सुविधा मिले, इसका भी फैसला लिया गया।
  • ट्रिपल तलाक की अमानवीय कुरीति को खत्म कर दिया गया है।
  • इसी तरह Child Protection और Health के क्षेत्र में भी सरकार ने अहम फैसले लिए हैं।
  • आज इस बात की भी बहुत चर्चा है कि इस बार हमारी संसद का सत्र पिछले 6 दशकों में सबसे ज्यादा प्रोडेक्टिव था।
  • हमने Imperialism, Fascism और Extremism का मुकाबला भारत में ही नहीं बल्कि France की धरती पर भी किया है। हमारी दोस्ती ठोस आदर्शों पर बनी है। दोनों देशों के चरित्र का निर्माण ‘लिबर्टी, इक्वलिटी और फ्रेटरनिटी’ के साझा मूल्यों से हुआ है।
  • आज अगर भारत और फ्रांस दुनिया के बड़े खतरों से लड़ने में नजदीकी सहयोग कर रहे हैं तो उसका कारण भी यह साझा मूल्य ही है। चाहे वह आंतकवाद हो या फिर climate change.
  • लोकतंत्र के मूल्यों को इन खतरों से बचाने की हमारी collective responsibility को हमने भली भांति स्वीकारा है।
  • भारत फ्रांस संबंधों की दूसरी विशेषता है कि हम चुनौतियों का सामना ठोस कार्रवाई से करते हैं।
  • दुनिया में climate change की बातें तो बहुत होती है मगर उन पर Action होता हुआ कम ही दिखाई देता है।
  • हमने राष्ट्रपति मेंक्रों के साथ मिलकर International Solar Alliance की पहल की।

खबरें और भी हैं...