comScore

Coronavirus: प्रिंस चार्ल्स कोरोनावायरस टेस्ट में पाए गए पॉजिटव, पत्नी के साथ खुद को किया सेल्फ आइसोलेट


हाईलाइट

  • प्रिंस चार्ल्स को कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया
  • उनकी पत्नी कैमिला का कोरोनावायरस टोस्ट नेगेटिव आया है
  • कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद वह सेल्फ आइसोलेशन में चले गए

डिजिटल डेस्क, लंदन। पूरे विश्वभर में कोरोनावायरस काफी तेजी के साथ अपने पांव पसार रहा है और अब इससे संक्रमितों की लिस्ट में ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स (71) का नाम भी जुड़ गया है। प्रिंस चार्ल्स को कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है। हालांकि उनकी पत्नी कैमिला का कोरोनावायरस टेस्ट नेगेटिव आया है। प्रिंस चार्ल्स के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद वह उनकी पत्नी के साथ स्कॉटलैंड में सेल्फ आइसोलेशन में चले गए हैं।

क्या कहा क्लेरेंस हाउस ने?
क्लेरेंस हाउस (शाही परिवार) ने कहा कि प्रिंस ऑफ़ वेल्स में कोरोनावायरस के कुछ लक्षण दिख रहे हैं मगर उनकी सेहत ठीक है। हालांकि अभी यह पता नहीं चल पाया है कि प्रिंस चार्लस कोरोनावायरस से कैसे संक्रमित हुए। बता दें कि कोरोनावायरस से निपटने के लिए ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने तीन हफ्ते के लिए लॉकडाउन कर दिया है। कोरोना वायरस के चलते देश में मृतकों की संख्या 335 के पार पहुंच गई है। इससे पहले बकिंघम पैलेस के एक स्टाफ (रॉयल एड, शाही सहयोगी) में कथित तौर पर कोरोनो वायरस का टेस्ट पॉजिटिव पाया गया था, जब महारानी एलिजाबेथ द्वितीय अपने लंदन वाले घर में थीं।

वायरस की फैमिली है कोरोनावायरस
कोरोनावायरस किसी एक इकलौते वायरस का नाम नहीं है। यह वायरस की एक पूरी फैमिली है। इस वायरस का इंटरेस्टिंग फैक्ट ये हैं कि आपको जो सर्दी जुखाम होता है वो भी एक तरह का कोरोनावायरस है। 2002-2003 में सार्स वायरस फैला था, वो भी एक तरह का कोरोनावायरस था। अभी जो वायरस लोगों को संक्रमित कर रहा है वो भी एक तरह का कोरनावायरस है। 31 दिसंबर 2019 को ये चीन के शहर वुहान में पाया गया था। नए कोरनावायरस का नाम N-COV रखा गया है, यानी नोवल कोरोनावायरस। नोवल का मतबल होता है नया। ये वायरस इतना नया है कि चीन इसका नाम भी नहीं सोच पाया था और इसका नाम N-COV रख दिया। हालांकि बाद में वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) ने इसका नाम COVID-19 रखा।

क्या-क्या सावधानी बरतनी चाहिए?
1) हाथों को बार-बार साबुन से धोना चाहिए. 
2) अल्‍कोहल आधारित हैंड रब का इस्‍तेमाल किया जाना चाहिए.
3) हाथों से बार-बार अपने चेहरे को छूने से बचे.
4) भीड़ भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचे. 
5) खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल से ढक कर रखें.
6) जिन व्‍यक्तियों में कोल्‍ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें. 
7) भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाना जरूरी हो तो फेस मास्क लगाए
8) पब्लिक प्लेसेज में लिफ्ट का बटन और दरवाजों के हैंडल जैसी चीजों को छूने से बचे


 

कमेंट करें
o5wlr