रिपोर्ट : अफगानिस्तान में प्रति व्यक्ति वार्षिक आय घटकर 350 डॉलर तक हो सकती है

February 21st, 2022

हाईलाइट

  • प्रति व्यक्ति आय 2012 में 650 डॉलर से गिरकर 2020 में 500 डॉलर होने का अनुमान है

डिजिटल डेस्क, काबुल। अफगानिस्तान पुननिर्माण के लिए अमेरिकी सरकार के विशेष महानिरीक्षक (एसआईजीएआर) ने कहा कि मौजूदा मानवीय संकट के कारण युद्धग्रस्त देश में लोगों की प्रति व्यक्ति आय गिरकर 350 डॉलर हो सकती है।

एक रिपोर्ट में सिगार ने कहा कि प्रति व्यक्ति आय 2012 में 650 डॉलर से गिरकर 2020 में 500 डॉलर होने का अनुमान है।

टोलो न्यूज ने रिपोर्ट के हवाले से कहा, एशियाई विकास बैंक द्वारा बनाए गए सबसे खराब स्थिति में अल्पावधि में बेरोजगारी 40 प्रतिशत से अधिक बढ़ सकती है और घरेलू खपत में 44 प्रतिशत की कमी आ सकती है।

संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) और आईएमएफ के अनुमानों के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया कि अफगानिस्तान की अर्थव्यवस्था को 2021 में सकल घरेलू उत्पाद में 20 से 30 प्रतिशत की गिरावट तक का सामना करना पड़ा।

यूएनडीपी मॉडलिंग ने अनुमान लगाया है कि अगस्त 2021 में राजनीतिक बदलाव के बाद के महीनों में अफगानिस्तान की नाममात्र जीडीपी 2020 में 20 अरब डॉलर से गिरकर 16 अरब डॉलर हो सकती है।

सिगार की रिपोर्ट में कहा गया कि यूएनडीपी ने चेतावनी दी है कि विशेष रूप से महिलाओं के रोजगार के संबंध में तत्काल सुधारात्मक कार्रवाई नहीं की गई तो 3 प्रतिशत से 5 प्रतिशत के बीच और गिरावट हो सकती है।

जब अगस्त 2021 में काबुल पर तालिबान ने कब्जा किया, तो देश के बाहर देश के केंद्रीय बैंक, दा अफगानिस्तान बैंक (डीएबी) के नाम पर अफगानिस्तान के पास 9 अरब डॉलर से अधिक का भंडार था।

इसमें अमेरिका में रखे गए 7 अरब डॉलर के भंडार शामिल हैं, बाकी के भंडार बड़े पैमाने पर जर्मनी, संयुक्त अरब अमीरात, स्विट्जरलैंड और कुछ अन्य राज्यों में हैं।

तालिबान के सत्ता में आने के जवाब में अब ये सारी संपत्तियां जमा हैं।

वर्तमान में, सभी विकास सहायता बंद हो गई है और देश में केवल मानवीय सहायता आ रही है।

(आईएएनएस)