comScore

करतारपुर वीडियो में भिंडरावाले, अमरीक खालसा संग दिखे सिद्धू

करतारपुर वीडियो में भिंडरावाले, अमरीक खालसा संग दिखे सिद्धू

हाईलाइट

  • सिद्धू को इस वीडियो में प्रमुखता से दिखाया गया है
  • वीडियो के एक दूसरे फ्रेम में पाक पीएम के भाषण देने के हिस्से को भी दिखाया

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के बाद पाकिस्तान किसी न किसी तरह से भारत को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहा है। इसी मंशा से पाकिस्तान सेना द्वारा आए दिन सीमा पर फायरिंग की जा रही है तो वहीं पाक पीएम विदेशी दौरों पर भारत के खिलाफ समर्थन जुटाने की कोशिश कर रहे हैं। जब इस तरह से पाकिस्तान के मंसूबे कामयाब नहीं हो पा रहे हैं तो वह भारत के खिलाफ करतारपुर के बहाने षड़यंत्र करने में लगा हुआ है। 

इसी के तहत पाकिस्तान अब सिख समुदाय के लोगों को भारत के खिलाफ भड़काने की कोशिश कर रहा है। दरअसल सिख समुदाय की आस्था का केंद्र करतारपुर में गुरु नानक की 550वीं जयंती के मौके पर पाकिस्तान में आयो​जन किया जा रहा है। इस करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन से पहले पाकिस्तान की सरकार ने एक वीडियो सॉन्ग रिलीज किया है। इसमें खालिस्तानी अलगाववादी जरनैल सिंह भिंडरावाले व कई अन्य नेताओं की तस्वीरों के साथ कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू भी नजर आ रहे हैं। इससे विवाद उत्पन्न हो गया है।

करतारपुर कॉरिडोर, भारत के गुरदासपुर में स्थित डेरा बाबा नानक मंदिर और पाकिस्तान के करतारपुर में स्थित दरबार साहिब गुरुद्वारे को आपस में जोड़ता है, जिसे जल्द ही भक्तों के लिए खोल दिया जाएगा।

पाकिस्तान के सूचना और प्रसारण मंत्रालय द्वारा इस वीडियो सांग को चार नवंबर को जारी किया गया था।वीडियो में खालिस्तानी अलगाववादी नेता जरनैल सिंह भिंडरावाले, मेजर जनरल शबेग सिंह और अमरीक सिंह खालसा की तस्वीरों के साथ-साथ नवजोत सिंह सिद्धू भी दिख रहे हैं। इस वीडियो से साफ जाहिर होता है कि पाकिस्तान किसी न किसी तरह से सिख समुदाय के लोगों को भड़काकर भारत को नुकसान पहुंचना चाहता है।

क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू को इस वीडियो में प्रमुखता से दिखाया गया है, जिसमें वह किसी समारोह में बैठे नजर आ रहे हैं। इसी वीडियो के एक दूसरे फ्रेम में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के भाषण देने के हिस्से को भी दिखाया गया है, जिसमें वह भीड़ को कॉरिडोर के महत्व के बारे में बताते नजर आ रहे हैं।

इससे पहले, सिद्धू को पाकिस्तान की ओर से करतारपुर कॉरिडोर के उद्धाटन समारोह में हिस्सा लेने का आमंत्रण मिला था। इसके बाद सिद्धू उस वक्त विवादों में आ गए थे, जब इमरान खान संग उनके होर्डिंग्स भी चंडीगढ़ में तैयार किए गए थे, जिसमें इन दोनों को सड़क परियोजना (करतारपुर कॉरिडोर) के साकार होने के लिए जिम्मेदार बताया गया था।

कमेंट करें
38rOs