ओमीक्रॉन से श्रीलंका सतर्क: कोरोना के नए कोरोना वेरिएंट के कारण 6 अफ्रीकी देशों की आवाजाही पर प्रतिबंध

November 27th, 2021

हाईलाइट

  • 26 और 27 नवंबर को श्रीलंका पहुंचे यात्रियों का होगा पीसीआर परीक्षण

डिजिटल डेस्क, कोलंबो। दक्षिण अफ्रीकी में कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रॉन के डर के कारण दक्षिण अफ्रीका, बोत्सवाना, लेसोथो, नामीबिया, जिम्बाब्वे और स्वाजीलैंड सहित छह अफ्रीकी देशों के यात्रियों को शनिवार रात से श्रीलंका में प्रवेश करने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। स्वास्थ्य सेवाओं के महानिदेशक डॉ. असेला गुणवर्धने ने कहा कि बीते 14 दिनों में इन देशों की यात्रा पर गए (पारगमन सहित) यात्रियों को 28 नवंबर और उसके बाद 12 बजे से श्रीलंका में उतरने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

डीजी स्वास्थ्य सेवा ने कहा, इसके अलावा, कोरोना टीकाकरण की स्थिति के बावजूद, 12 साल और उससे ज्यादा उम्र के यात्री जो छह देशों से 26 और 27 नवंबर को श्रीलंका पहुंचे हैं, उन्हें पीसीआर परीक्षण से गुजरना होगा। यात्रियों को 14 दिनों के लिए अनिवार्य क्वारंटीन से गुजरना होगा, यहां तक की निगेटिव परीक्षण से भी गुजरना होगा। इस बीच श्रीलंकाई चिकित्सा विशेषज्ञों ने भी चेतावनी दी है कि दक्षिण अफ्रीका में फैलने वाला एक नया कोरोना वेरिएंट किसी भी समय श्रीलंका में भी उभर सकता है।

स्वास्थ्य संवर्धन ब्यूरो के निदेशक डॉ. रंजीत बटुवनथुडावा ने मीडिया को बताया कि उपलब्ध जानकारी के अनुसार टीके नए वेरिएंट के मुकाबले 40 प्रतिशत कम प्रभावी हैं। श्रीलंका में 19 नवंबर को कोरोना डेल्टा वैरिएंट का एक नया वेरिएंट बी.1.617.2.104 नाम का पाया गया। डॉ बटुवनथुडावा ने लोगों से स्वास्थ्य दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करने और टीकाकरण कराने का आग्रह किया। दक्षिण एशियाई द्वीप राष्ट्र की कुल आबादी का लगभग 75 प्रतिशत टीकाकरण किया गया है और 60 वर्ष से ज्यादा उम्र के लगभग 400,000 लोगों को वायरस के खिलाफ बूस्टर खुराक दी गई है। नए आंकड़ों के अनुसार, श्रीलंका में कोरोनावायरस के 561,059 मामले हैं जबकि 14,258 मौतें दर्ज की गई हैं।

(आईएएनएस)