दैनिक भास्कर हिंदी: श्रीलंका ने देश से बाहर किए 200 मौलाना, वीजा खत्म होने के बाद भी रह रहे थे अवैध तरीके से

May 6th, 2019

हाईलाइट

  • कट्टरपंथियों पर शिकंजा कस रहा श्रीलंका
  • अब तक 600 विदेशियों को किया जा चुका है बाहर
  • लोगों से घरों में रखे हथियार सरेंडर करने की अपील

डिजिटल डेस्क, कोलंबो। ईस्टर पर हुए सीरियल ब्लास्ट के बाद श्रीलंका ने आतंकियों के अलावा कट्टरपंथी धार्मिक प्रचारकों पर भी शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। ईस्टर संडे के मौके पर 21 अप्रैल को 8 स्थानों पर हुए धमाकों में 250 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी, जिसके बाद अब तक श्रीलंका 200 मौलानाओं के साथ ही 600 से ज्यादा विदेशी लोगों को अपने देश से बाहर कर चुका है।

गृहमंत्री वाजिरा अभयवर्धने ने कहा कि सभी मौलाना वैध तरीके से देश में दाखिल हुए थे, लेकिन ईस्टर अटैक के बाद हुई जांच में सामने आया कि वीजा खत्म होने के बाद भी वो वापस नहीं गए, जुर्माना लगाने के बाद उन्हें देश से बाहर कर दिया गया। उन्होंने कहा कि हमने वीजा प्रणाली की समीक्षा कनरे के बाद महसूस किया कि धार्मिक उपदेशकों के लिए वीजा की शर्तों को और कड़ा किया जाना चाहिए। 

श्रीलंका प्रशासन ने लोगों से अपने घर में रखी तलवारों और चाकुओं को भी त्यागने की अपील की है, पुलिस की मीडिया इकाई ने सूचना जारी कर सभी को रविवार तक चाकू और तलवार पास के पुलिस थाने में जमा करवाने का समय दिया है।

पंद्रह दिन बाद सोमवार को खुलेंगे स्कूल
आतंकी हमले के बाद बंद किए गए स्कूल दो सप्ताह बाद सोमवार से दोबारा खुल रहे हैं, जानकारी के मुताबिक सरकारी स्कूलों का सत्र सोमवार से शुरू हो जाएगा। मंत्री अकिला विराज करियावासम ने बताया कि नए सत्र के शुभारंभ के साथ ही स्कूलों में एक नया सुरक्षा कार्यक्रम लागू किया जाएगा।
 

 

 

 

 

खबरें और भी हैं...