comScore

श्रीलंका: राष्ट्रपति ने अपने भाई महिंदा को घोषित किया पीएम, विक्रमसिंघे देंगे इस्तीफा

November 21st, 2019 17:12 IST
श्रीलंका: राष्ट्रपति ने अपने भाई महिंदा को घोषित किया पीएम, विक्रमसिंघे देंगे इस्तीफा

हाईलाइट

  • श्रीलंका के राष्ट्रपति ने अपने भाई महिंदा राजपक्षे को प्रधानमंत्री घोषित किया
  • रानिल विक्रमसिंघे चुनाव में मिली हार के बाद पद से इस्तीफा देंगे
  • विक्रमसिंघे के पद छोड़ने के बाद राजपक्षे पदभार संभालेंगे

डिजिटल डेस्क, कोलंबो। श्रीलंका के राष्ट्रपति गोतभाया राजपक्षे ने बुधवार को अपने बड़े भाई महिंदा राजपक्षे को नया प्रधानमंत्री घोषित किया। रानिल विक्रमसिंघे के चुनाव में मिली हार के बाद पद से इस्तीफा देने की घोषणा करने के बाद ये ऐलान किया गया है। एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक, महिंदा गुरुवार को औपचारिक रूप से विक्रमसिंघे के पद छोड़ने के बाद पदभार संभालेंगे।

इससे पहले दिन में विक्रमसिंघे ने अपने इस्तीफे की घोषणा की। विक्रमसिंघे ने कहा कि उन्होंने मंगलवार को राष्ट्रपति राजपक्षे से मुलाकात की और श्रीलंका के संसद के भविष्य पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि 'उनकी सरकार के पास अभी भी संसद में बहुमत है, लेकिन राष्ट्रपति चुनाव में राजपक्षे को दिए गए जनादेश का सम्मान करते हुए पद छोड़ने का फैसला लिया है। मैं गुरुवार को नए राष्ट्रपति को अपने फैसले की आधिकारिक रूप से जानकारी दूंगा।'

बता दें कि महिंदा राजपक्षे को पिछले साल 26 अक्टूबर को तत्कालीन राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने प्रधानमंत्री नियुक्त कर विक्रमसिंघे को बर्खास्त कर दिया था। श्रीलंका की राजनीति में अचानक इस तरह का बदलाव इसलिए आया था क्योंकि सिरिसेना की पार्टी यूनाइटेड पीपुल्स फ्रीडम (UPFA) ने  रणिल विक्रमेसिंघे की यूनाइटेड नेशनल पार्टी (UNP) के साथ गठबंधन तोड़ लिया था। इसके बाद मैत्रिपाला सिरिसेना ने 225 सदस्यीय संसद को भंग कर दिया था।

विक्रमसिंघे ने संसद भंग करने के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। इसके बाद संसद भंग के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी थी। चीफ जस्टिस नलिन परेरा की अध्यक्षता वाली तीन जजों की बेंच ने यह फैसला सुनाया था। इसके बाद रानिल विक्रमसिंघे ने संसद में स्पष्ट बहुमत साबित कर दिया था। 225 सदस्यीय संसद में विश्वास प्रस्ताव को पारित करने के पक्ष में रानिल विक्रमसिंघे को 117 वोट मिले थे।

कमेंट करें
R0Wyv