दैनिक भास्कर हिंदी: संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने की पुलवामा हमले की कड़ी निंदा

February 22nd, 2019

हाईलाइट

  • संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने गुरुवार को पुलवामा आतंकी हमले की कड़ी निंदा की।
  • सुरक्षा परिषद के सदस्यों ने पीड़ित परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की।
  • 14 फरवरी को हुए इस हमले में 40 से ज्यादा सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे ।

डिजिटल डेस्क, न्यूयॉर्क। संयुक्त राष्ट्र में भारत के खिलाफ पाकिस्तान के प्रयासों के बावजूद सुरक्षा परिषद ने गुरुवार को पुलवामा आतंकी हमले की कड़ी निंदा की। 14 फरवरी को हुए इस हमले में 40 से ज्यादा सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे और दर्जनों घायल हो गए थे। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। इस हमले के बाद कई देशों ने खुद आगे आकर भारत की हर संभव मदद करने का आश्वासन भी दिया था। 

यूएनएससी की ओर से जारी किए गए प्रेस स्टेटमेंट में कहा गया है कि 'सुरक्षा परिषद के सदस्यों ने जम्मू-कश्मीर में जघन्य और कायरतापूर्ण आत्मघाती बम विस्फोट की कड़े शब्दों में निंदा की, जिसके परिणामस्वरूप 14 फरवरी, 2019 को 40 से अधिक भारतीय अर्धसैनिक बलों के जवान शहीद और दर्जनों घायल हो गए थे। बयान के अनुसार, सुरक्षा परिषद के सदस्यों ने पीड़ित परिवारों के साथ-साथ भारतीय लोगों और भारत सरकार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की और जो लोग घायल हुए थे, उनके शीघ्र और पूर्ण स्वस्थ होने की कामना की।

बयान में कहा गया है कि सभी रूपों और अभिव्यक्तियों में आतंकवाद अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए सबसे गंभीर खतरों में से एक है। सुरक्षा परिषद के सदस्यों ने पुलवामा जैसी आतंकी घटनाओं के अपराधी, उनके फाइनेंसर और उनके प्रायजकों को जिम्मेदार ठहराए जाने और न्याय के दायरे में लाने की जरूरत को रेखांकित किया। उन्होंने सभी राज्यों से भारत सरकार और इस मामले से जुड़ी अन्य सभी संबंधित अथॉरिटी के साथ सक्रिय रूप से सहयोग करने का आग्रह किया।

संयुक्त राष्ट्र की 15 शक्तिशाली देशों की इस इकाई ने अपने बयान में पाकिस्तान के आतंकी समूह जैश-ए-मोहम्मद का नाम भी लिया। इस परिषद में चीन वीटो क्षमता वाला स्थायी सदस्य है। उसने पूर्व में भारत द्वारा सुरक्षा परिषद प्रतिबंध समिति से आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने की मांग के रास्ते में रोड़ा अटकाया है।


 

खबरें और भी हैं...