comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

पाकिस्तान के एफ-16 एस को 12.5 करोड़ डॉलर का अमेारिकी सहायता पैकेज

July 27th, 2019 21:00 IST
 पाकिस्तान के एफ-16 एस को 12.5 करोड़ डॉलर का अमेारिकी सहायता पैकेज

हाईलाइट

  • पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की अमेरिकी यात्रा के कुछ ही दिन बाद अमेरिका ने पाकिस्तान के लड़ाकू विमान एफ-16 कार्यक्रम के लिए 12.5 करोड़ डॉलर का सहायता पैकेज स्वीकृत किया है
  • अपने वाशिंगटन दौरे के दौरान इमरान खान ने राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रम्प से मुलाकात की थी

वाशिंगटन, 27 जुलाई (आईएएनएस)। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की अमेरिकी यात्रा के कुछ ही दिन बाद अमेरिका ने पाकिस्तान के लड़ाकू विमान एफ-16 कार्यक्रम के लिए 12.5 करोड़ डॉलर का सहायता पैकेज स्वीकृत किया है। अपने वाशिंगटन दौरे के दौरान इमरान खान ने राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रम्प से मुलाकात की थी।

अमेरिकी निर्मित लड़ाकू विमान के लिए सहायता पैकेज की स्वीकृति शुक्रवार को अमेरिकी विदेश विभाग ने दी और इसके साथ ही अमेरिकी रक्षा सहायता एजेंसी (डीएससीए) ने इसकी घोषणा की।

डीएससीए ने जारी बयान में कहा है कि विदेश विभाग ने एफ -14 कार्यक्रम में निरंतर सहयोग के लिए तकनीकी सुरक्षा टीम (टीएसटी) के लिए पाकिस्तान को एक संभावित विदेशी सैन्य बिक्री को स्वीकृति दी है जिसका अनुमानित लागत 12.5 करोड़ डॉलर है। इस संबंध में कांग्रेस को अधिसूचित कर दिया गया है।

पाकिस्तान सरकार ने तकरनीकी सहायता जारी रखने का अनुरोध किया था। इसमें अमेरिकी सरकार और तकनीकी ठेकेदार और ढांचागत समर्थन सेवाएं शामिल हैं। पाकिस्तान के अग्रिम शांति अभियान एफ-16 कार्यक्रम के परिचालन में सहयसेग और निरीक्षण के लिए भी पाकिस्तान सरकार ने अनुरोध किया था। कार्यक्रम को कुल अनुमानित लागत 12.5 करोड़ डॉलर है।

विदेश विभाग ने कहा है कि संभावित बिक्री चौबीसों घंटे (24/7) लगातार अमेरिकी कर्मचारियों की उपस्थिति में अंतिम छोर पर प्रयोग की निगरानी के माध्यम से अमेरिकी तकनीकी की सुरक्षा कर अमेरिकी विदेशी नीति और राष्ट्रीय सुरक्षा का समर्थन करेगी। इसी बयान में आगे कहा गया है कि उपकरणों और सहायता से क्षेत्र में मौलिक सैन्य संतुलन में बदलाव नहीं होगा।

ट्रम्प प्रशासन ने जनवरी, 2018 में पाकिस्तान को सभी तरह की विदेशी सैन्य सहायता यह आरोप लगाते हुए बंद कर दिया था कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान में वाशिंगटन के उद्देश्यों को प्राप्त करने में कोई मदद नहीं कर रहा।

--आईएएनएस

कमेंट करें
9xGoA