दैनिक भास्कर हिंदी: चीन: वुहान की नर्स ने ट्रंप को भेजा खुला पत्र, सुनाई कोरोना से जंग की ये दर्दभरी कहानी

May 9th, 2020

हाईलाइट

  • वुहान की नर्स ने ट्रम्प को भेजा खुला पत्र

डिजिटल डेस्क, बीजिंग। चीन के हूबेई प्रांत के वुहान से वापस लौटी एक नर्स ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के नाम एक खुला पत्र लिखा। पत्र में नर्स ने लिखा कि उन्होंने वुहान की सहायता करने वाले बाकी 42 हजार अन्य चिकित्सकों के साथ दिन रात मरीजों को बचाने की कोशिश की। पत्र में उन्होंने वुहान के अपने निजी अनुभव को साझा किया। 

नर्स में पत्र में लिखा...
वुहान जाते समय चीन में वसंत उत्सव की पूर्व संध्या थी, जो अमेरिका के क्रिसमस की पूर्व संध्या की तरह है। इस पुनर्मिलन के समय मैं बाकी 42 हजार चिकित्सकों के साथ परिवारजनों से विदा लेकर वुहान गयी और कोविड-19 से संघर्ष की लड़ाई में जुट गई।
COVID-19: चीन में बनी कोरोनावायरस की वैक्सीन बंदरों पर प्रभावी साबित

शुरूआत में हमारे लिए चिकित्सक सामग्रियों का अभाव था। हम सुरक्षात्मक कपड़ों को उतारना नहीं चाहते थे, इसलिए न तो हम खाना खाते थे और न ही शौचालय जाते थे। मैंने देखा कि अमेरिका में कुछ डॉक्टरों को सुरक्षात्मक कपड़े के रूप में प्लास्टिक बैग पहनना पड़ रहा है। इसके अलावा मैंने देखा कि संक्रमित होने के कारण कई अमेरिकी चिकित्सकों की मौत हो गई, जिससे मुझे बहुत दुख हुआ। परन्तु राहत की बात यह है कि अब सबसे कठिन समय गुजर चुका है। ज्यादा से ज्यादा मरीज स्वस्थ होकर अस्पताल से जा रहे हैं। हम अपने मां-बाप की तरह सभी वृद्ध मरीजों की देख-भाल करते हैं। हमने हुबेई प्रांत के 3600 से ज्यादा बुजुर्गों का उपचार किया, जिनमें ज्यादातर 80 साल से ज्यादा उम्र के हैं। यह मेरे लिए गर्व की बात है।

कोरोना पर कामयाबी: किम जोंग ने की चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की तारीफ, भेजा ये संदेश

वुहान में शिशुओं से लेकर 108 वर्ष के बूढ़ों तक हमने सभी का हरसंभव उपचार किया। राष्ट्रपति, यह वुहान की कहानी है। मुझे मालूम है कि इस समय अनेक अमेरिकी भी इस वायरस से जूझ रहे हैं। अनेक अमेरिकी चिकित्सक उपचार के अग्रिम मोर्चे पर संघर्ष कर रहे हैं। अनेक लोग विभिन्न तरीकों से एक-दूसरे का ख्याल रखते हैं। मैं उन्हें नमन करती हूं! सच्चे दिल से अमेरिकी लोगों को शुभकामनाएं!

 

खबरें और भी हैं...