दैनिक भास्कर हिंदी: World Teachers Day: शिक्षा को बेहतर बनाने और शिक्षकों के सम्मान के लिए मनाया जाता है यह दिन

October 5th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। गुरु हमारे जीवन में एक दी​पक की तहर होता है, जो हमें रास्ता बताता है। जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है। दुनिया में गुरु ही एक ऐसा शख्स है, जिसे अपने शिष्य से हारकर खुशी मिलती है और वह हमेशा अपने शिष्य से हारना चाहता है। हर बच्चे के जीवन में एक न एक ​गुरु ऐसा जरुर होता है, जिसकी डांट और मार खाकर वह आगे बढ़ता है। गुरू अपने शिष्य को सिर्फ किताबी ज्ञान हीं नहीं देते। ​बल्कि वे सामाजिक परिवेश से लड़ने की सीख भी देते हैं। इसी वजह से हर साल 5 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस मानाया जाता है। यह खास दिन राष्ट्र निर्माण में शिक्षकों के योगदान के लिए उनके सम्मान में मनाया किया जाता है।

क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस?
अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस 5 अक्टूबर को इसलिए मनाया जाता है। क्योंकि 5 अक्टूबर, 1966 को पैरिस में अंतरसरकारी सम्मेलन का आयोजन हुआ था। इस सम्मेलन में 'टीचिंग इन फ्रीडम' संधि पर हस्ताक्षर किए गए थे। इस संधि में शिक्षकों के अधिकार एवं जिम्मेदारी, भर्ती, रोजगार, सीखने और सिखाने के माहौल से संबंधित सिफारिशें की गई थीं। इसी दिन 1997 में आयोजित एक सम्मेलन में उच्चतर शिक्षा से जुड़े शिक्षकों की स्थिति को लेकर की गई यूनेस्को की अनुशंसाओं को अंगीकृत किया गया था। पढ़ाई के पेशे को प्रोत्साहित करने के लिए यूनेस्को द्वारा हर साल इस दिन को मनाया जाता है। 

हर देश में अलग-अलग तरीखों को होता है शिक्षक दिवस 
अलग-अलग देशों में अलग तारीखों को शिक्षक दिवस मनाया जाता है। वहीं हमारे देश में 5 सितंबर शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन भारत के पूर्व राष्ट्रपति और महान शिक्षाविद डॉ. सर्वपल्ली राधा कृष्णन जन्म हुआ था। उनके जन्म दिवस को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है।