दैनिक भास्कर हिंदी: कर्नाटक: कांग्रेस के 10 विधायक भाजपा में शामिल होकर गिराएंगे सरकार, इस्तीफे को तैयार!

August 8th, 2018

हाईलाइट

  • कांग्रेस के 8 से 10 असंतुष्ट विधायक भाजपा में शामिल होकर सरकार गिराने की कवायद में लगे हुए हैं।
  • येदियुरप्पा ने अमित शाह और रामलाल से मुलाकात की है।
  • विधायकों के इस्तीफा देने पर अल्पमत में आ जाएगी सरकार।

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरू। कर्नाटक में कांग्रेस और जनता दल सेकुलर (जेडीएस) की गठबंधन सरकार पर खतरे के बादल मंडराने लगे हैं। कैबिनेट में विस्तार करने के लिए सरकार 11 अगस्त को आषाढ़ के महीने का खत्म होने का इंतजार कर रही है तो दूसरी तरफ एचडी कुमारस्वामी की 10 सप्ताह पुरानी सरकार को गिराने की कोशिशें भी तेज हो गई है। कांग्रेस के 8 से 10 असंतुष्ट विधायक भाजपा में शामिल होकर सरकार गिराने की कवायद में लगे हुए हैं।

रणनीति के तहत इन विधायकों से विधानसभा में इस्तीफा दिलाने का प्लान बनाया जा रहा है। यदि 8 विधायक भी कांग्रेस से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हो जाते हैं तो गठबंधन सरकार के पास बहुमत के लिए जरूरी 112 सीटे नहीं बचेंगी और सरकार गिर जाएगी। हालांकि, कांग्रेस के सूत्रों ने इस बात का खंडन किया है। एक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने कहा कि हमने इस बारे में हाईकमान को सूचित कर दिया है, लेकिन यह बातें कैबिनेट में जगह बनाने के लिए उड़ाई जा रही हैं। हम किसी तरह के दबाव में नहीं आने वाले हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और संगठन महासचिव रामलाल से मंगलवार को नई दिल्ली में मुलाकात की थी। सूत्रों के मुताबिक अमित शाह और रामलाल ने येदियुरप्पा को जल्दबाजी न करने को कहा है। पार्टी के आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक येदियुरप्पा ने 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी को लेकर मुलाकात की थी।

कांग्रेस ने लगाया खरीद-फरोख्त का आरोप

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश गुंडुराव ने भाजपा पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है। गुंडुराव ने कहा कि भाजपा सरकार गिराने की कोशिश कर रही है। भाजपा के लोग पावर के बिना रह नहीं पा रहे हैं, लेकिन वो सरकार गिराने में सफल भी नहीं हो पा रहे हैं। कुछ घटनाओं से भी ये आशंकाएं पुख्ता हो रही हैं। प्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री रमेश जरकीहोली 6 विधायकों के साथ सोमवार को उस फ्लाइट से ही दिल्ली गए थे, जिसमें येदियुरप्पा भी सवार थे। हालांकि, गुंडुराव ने इस बात से इनकार किया है, उनका कहना है कि सभी विधायक दिल्ली वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करने गए थे। जरकीहोली ने कहा कि मैं भाजपा के 10 विधायकों को इस वक्त कांग्रेस में ला सकता हूं, फिर भाजपा में जाने का सवाल ही नहीं पैदा होता है।