दैनिक भास्कर हिंदी: NIA ने 16 संदिग्धों को किया गिरफ्तार, आतंकी हमलों को अंजाम देने की थी तैयारी

July 20th, 2019

हाईलाइट

  • एनआईए ने शुक्रवार को 14 संदिग्ध आतंकियों की पहचान की है
  • न सभी को इस हफ्ते यूएई से डिपोर्ट किया गया था
  • 14 संदिग्धों के साथ, दो अन्य को भी गिरफ्तार किया गया है

डिजिटल डेस्क, चेन्नई। नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने शुक्रवार को 16 संदिग्ध आतंकियों की पहचान की है। इन सभी को इस हफ्ते यूएई से डिपोर्ट किया गया था। अलकायदा, इस्लामिक स्टेट और स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया की विभिन्न विचारधाराओं से ये लोग जुड़े है। सभी को आठ दिनों के लिए एनआईए की हिरासत में भेज दिया गया है। सभी 16 संदिग्ध तमिलनाडु के हैं।

एनआईए ने आरोप लगाया कि वे अंसारुल्ला नामक एक आतंकवादी ग्रुप बनाने के लिए एक साथ आए थे। ये लोग भारत में इस्लामिक शासन स्थापित करना चाहते थे। इसके लिए इन्होंने फंड इकट्ठा किया था और इससे आतंकवादी हमलों को अंजाम देने की तैयारी की थी। ग्रुप के सदस्य चाकू, वाहन और जहर का उपयोग कर लोन-वुल्फ हमलों को अंजाम देने के लिए दूसरों को प्रेरित कर रहे थे।

एनआईए ने एक बयान में कहा, 'आरोपी सक्रिय रूप से भारत में आतंकी हमलों को अंजाम देने के लिए लोगों की भर्ती कर रहे थे। ये लोग नियमित रूप से वीडियो और अन्य जिहादी प्रचार सामग्री भी सोशल मीडिया के जरिए पोस्ट कर रहे थे, ताकि उनके समर्थकों को विस्फोटक, जहर, चाकू और वाहन के उपयोग से आतंकवादी हमले करने के लिए प्रेरित कर सके।' एनआईए ने दावा किया कि इस मामले में 16 लोगों को गिरफ्तार किया है।

सिक्यॉरिटी इस्टेब्लिशमेंट के सूत्रों ने कहा कि संदिग्धों को यूएई से दो बैटों में डिपोर्ट किया गया था। पहले बैच में 7 संदिग्ध 13 जुलाई को और दूसरे बैच में 7 संदिग्धों को 15 जुलाई को डिपोर्ट किया गया था। पकड़े गए संदिग्धों को एक विशेष उड़ान के जरिए चेन्नई ले जाया गया जहां उन्हें एक अदालत में पेश किया गया।

यूएई से डिपोर्ट किए गए इन लोगों की पहचान 58 वर्षीय मोहम्मद इब्राहिम, मीरान घानी (33), गुलाम नबी असथ (37), रफी अहमद (55), मुंतशिर (39), उमर बरोक (48), फ़ारूक (26), मोहम्मद शेख मैथेन (40), अहमद अजरुद्दीन (27), तौफीक अहमद (27), मोहम्मद इब्राहिम (36), मोहम्मद अफज़र (29), मोहिदीन सेनी शाहुल हमीद (59) और फैज़ल शरीफ (44) के रूप में की गई है।

यह संदेह है कि ये लोग तमिलनाडु में इस्लामी संगठन, वहादत-ए-इस्लामी हिंद से जुड़े हुए हैं। पिछले हफ्ते एनआईए ने अंसारुल्लाह की गतिविधियों की जांच के सिलसिले में तमिलनाडु में तीन लोगों के परिसरों पर छापे मारे। उनमें से एक चेन्नई निवासी सैयद बुखारी था, जो वहादत-ए-इस्लामी हिंद के अध्यक्ष भी हैं। इसके बाद एजेंसी ने नागापट्टिनम के दो व्यक्तियों - हसन अली और हरीश मोहम्मद - को गिरफ्तार किया।

पिछले हफ्ते आरोपियों के निवास और आधिकारिक परिसर में तलाशी के दौरान, एनआईए ने नौ मोबाइल फोन, 15 सिम कार्ड, सात मेमोरी कार्ड, तीन लैपटॉप, पांच हार्ड डिस्क, छह पेन ड्राइव, दो टैबलेट और तीन सीडी/डीवीडी जब्त करने का दावा किया। इसके अलावा पत्रिकाओं, बैनर, नोटिस, पोस्टर और पुस्तकों सहित कुछ दस्तावेज़ भी जब्त किए गए।